केबीसी-13 की हॉट सीट पर नज़र आएँगी छत्तीसगढ़ की कल्पना सिंह, टीचर्स-डे स्पेशल पर होगा कार्यक्रम का प्रसारण, 20 साल के प्रयास के बाद अब सफलता मिली

CHATTISGARH ENTERTAINMENT

रायपुर| भारतीय टेलीविजन में लोगों सबसे पसंदीदा शो केबीसी-13 में नज़र आएंगी छत्तीसगढ़ की कल्पना सिंह| छत्तीसगढ़ के जांजगीर जिले के चांपा डीपीएस स्कूल की प्रिंसिपल कल्पना सिंह 6 सितंबर को केबीसी की हॉट सीट पर नजर आएंगी। कौन बनेगा करोड़पति में आज टीचर्स-डे स्पेशल एपिसोड प्रसारित किया जाएगा। जिसमें कल्पना सिंह नजर आने वाली हैं। यह कार्यक्रम 6 सितंबर की रात 9 बजे से सोनी चैनल पर प्रसारित होगा। इस मौके पर कल्पना सिंह ने उन्होंने प्रिंट मिडिया से बातचीत भी की है और बताया है कि वो कौन बनेगा करोड़पति में आने पिछले 20 सालों से मेहनत कर रहीं थीं। इसके अलावा उन्होंने कार्यक्रम और जीवन से जुड़े कई बिंदुओं पर भी चर्चा की है।

पहली बार 2001 में देखा था

कल्पना सिंह ने बताया कि केबीसी खेलने के लिए उन्हें काफी मेहनत करनी पड़ी। उन्होंने बताया कि 2001 में हमने KBC का पहला सीजन देखा था। तब से ही मेरे मन में ये सपना था कि मैं सदी के महानायक के सामने जाऊं और कौन बनेगा करोड़पति खेलूं। इसके बाद से ही मैं मेहनत कर रही थी। चूंकि मैं पीएससी की भी तैयारी कर रही थी, इसलिए मुझे लगता था कि मैं इस प्रोग्राम में जरूर सिलेक्ट हो जाऊंगी और फिर मैं मेहनत करती रही। साथ ही हर सीजन में केबीसी के एपिसोड भी देखती थी। इसी दौरान मैंने इस सीजन के लिए सोनी पर अपना रजिस्ट्रेशन करवाया, तब मुझे पहली बार मई महीने में मुंबई से कॉल आया। फिर अलग-अलग 5 राऊंड हुए। जिसमें प्रश्न भी काफी कठिन पूछे गए, पर मैं सबका जवाब देती रही। आखिरकार अगस्त में अचानक मुंबई से फोन आ ही गया। मुझसे कहा गया कि 24 अगस्त को मुंबई आ जाईए, आपकी रिकॉर्डिंग करवानी है। 27 अगस्त को इस प्रोग्राम की रिकॉर्डिग की गई। जहां मैंने 6वां राउंड फास्टेस्ट फिंगर फर्स्ट खेला और सिलेक्ट हो गई। तब मेरी खुशी का ठिकाना नहीं था। उसी दिन मेरे प्रोग्राम की रिकॉर्डिंग भी पूरी हुई। आगे बताया कि अमिताभ बच्चन सच में सदी के महानायक हैं। इतने विनम्र हैं कि जिसकी कल्पना भी कोई नहीं कर सकता। उन्होंने हम सभी को बहुत ही अच्छा ट्रीट किया और उन्होंने ऑनस्क्रीन तो बातें की हैं। ऑफस्क्रीन भी हमसे बातें करते थे। खासकर अमिताभ जी ने हमारे कार्य की सरहाना भी की। उनसे मिलकर ऐसा लगा ही नहीं कि वो इतने बड़े एक्टर हैं।

एमपी के ग्वालियर शहर से है कल्पना

कल्पना मुख्य रूप से मध्यप्रदेश की रहनी वाली हैं। कल्पना के पति अजय सिंह भी ग्वालियर में टीचर हैं और वो अपने बच्चे के साथ चांपा के डीपीएस स्कूल कैंपस में ही रहती हैं। उन्होंने बताया कि पिछले 6 साल से वो यहां काम कर रही हैं। कल्पना कहती हैं कि मुझे इस मुकाम तक पहंचाने में मेरी मां सरला तोमर का बहुत बड़ा योगदान है। क्योंकि मैं जिस इलाके से आती हूं मुरैना। वहां हमारे समय में लड़कियों को पढ़ाने का चलन ही नहीं था। फिर भी मेरी मां ने पिता जी से झगड़ा कर हमें ग्वालियर लेकर आईं। वहीं मैंने अपनी पढ़ाई पूरी की है। कल्पना के पिता राजेंद्र सिंह तोमर मध्यप्रदेश पुलिस के रिटायर्ड पुलिसकर्मी हैं। कल्पना अपनी सफलता का श्रेय अपने माता- पिता को देती हैं।

कल्पना बताती हैं कि यदि आप भी केबीसी में सिलेक्ट होना चाहते हैं तो सबसे जरूरी है आप हमेशा इसके एपिसोड देखें। रोज अपने आसपास, देश, दुनिया में घटित होने वाली घटना पर नजर रखें, उसे समझते रहें। क्योंकि यह कोई परीक्षा नहीं है कि जिसे किताब के सहारे पास किया जाए, बल्कि यहां आपका अनुभव और ज्ञान ही काम आता है। कल्पना कहती हैं कि इंसान को हमेशा बड़े सपना देखना चाहिए और उसके पीछे लगे रहना चाहिए। मुझे केबीसी खेलना था, इसके लिए मैं भी काफी दिनों से संघर्ष कर रही थी। तब जाकर अभी सफलता मिली है। कल्पना ने बतााया कि कोरोनाकाल के दौरान हमें भी खासा परेशानियों का सामना करना पड़ा। ऑनलाइन क्लासेस तो चल रहीं थीं, पर ऐसा हो रहा था कि बच्चे ज्यादा मोबाइल, लेपटॉप इस्तेमाल करने के कारण बीमार हो रहे थे। ऐसे में उन्हें पढ़ाना और उस दौरान स्कूल चलाना भी बहुत कठिन था। लेकिन हौसला और हमारे स्कूल के सभी टीचर की मेहनत से हमने ये समय भी फेस कर लिया है।

Leave a Reply