छत्तीसगढ़ में पिछले 6 दिनों में 1 भी मौत नहीं, मिले केवल 22 नए कोरोना संक्रमित मरीज, लेकिन संक्रमण दर बढ़कर 0.12% हुई

CHHATTISGARH HEALTH STATE

रायपुर| छत्तीसगढ़ राज्य से संक्रमण के केवल 22 नए मामले सामने आए। वहीं किसी भी मरीज की मौत की रिपोर्ट नहीं है। पूरे कोरोना काल में पिछले 6 दिन ऐसे रहे जब संक्रमण से किसी मरीज की जान नहीं गई है। प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या भी केवल 439 रह गई है। हालांकि दैनिक संक्रमण दर बढ़कर 0.12 प्रतिशत पहुंच गई है। मिली जानकारी में स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, 29 अगस्त को 17660 नमूनों की जांच में केवल 19 मरीज मिले थे। इसके अनुसार संक्रमण दर 0.11 प्रतिशत थी वहीं 28 अगस्त को तो संक्रमण दर 0.02 प्रतिशत के न्यूनतम स्तर तक पहुंच चुकी थी। उसके बाद जांच के अनुपात में नए मरीजों की संख्या बढ़ती गई है। छत्तीसगढ़ में 25 अगस्त से 30 अगस्त तक किसी मरीज की मौत कोरोना से नहीं हुई है। डॉक्टर इसे अच्छे संकेत मान रहे हैं| प्रदेश के 18 जिलों में कोरोना संक्रमण का कोई नया मामला सामने नहीं आया है। इनमें राजनांदगांव, बालोद, बेमेतरा, कबीरधाम, धमतरी, महासमुंद, गरियाबंद, बिलासपुर, रायगढ़, जांजगीर-चांपा, मुंगेली, सरगुजा, सूरजपुर, बलरामपुर, बस्तर, दंतेवाडा, सुकमा और बीजापुर जिले शामिल हैं। पिछले कई सप्ताह से शून्य संक्रमण वाले जिले गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही में फिर खतरा पहुंच गया है। वहां लगातार दूसरे दिन एक-एक मरीज मिले हैं। अब वहां 2 एक्टिव केस हैं।

ऐसे दो जिले में जिनमे कोई कोविद मरीज नहीं

प्रदेश के दो जिले ऐसे हैं, जहां कोरोना का कोई मरीज नहीं है। इसमें कबीरधाम लगातार तीन दिनों से अपना रिकॉर्ड मेंटेन किए हुए है। महासमुंद जिले में भी अब कोई मरीज नहीं है। गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिले में भी शून्य संक्रमण की स्थिति थी, लेकिन वह रविवार-सोमवार को कायम नहीं रह पाई।

सबसे अधिक मरीज़ कोरबा में

नए आंकड़ों के मुताबिक कल सबसे अधिक 6-6 मरीज कोरबा और बलौदाबाजार जिलों में सामने आए हैं। कोरिया जिले में 3 संक्रमित मिले, वहीं दुर्ग, रायपुर, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही, जशपुर, कोण्डागांव, कांकेर और नारायणपुर में एक-एक मरीज मिले हैं। अभी सबसे अधिक 69 सक्रिय मरीज कोरबा जिले में हैं। 45 के साथ जशपुर दूसरे और 37 मरीजों के साथ रायपुर तीसरे स्थान पर बना हुआ है।

प्रदेश में कोरोना के पहले मरीज से लेकर कल तक 10 लाख 4 हजार 420 लोग इस महामारी की चपेट में आ चुके हैं। इसमें से 9 लाख 90 हजार 426 लोग तो ठीक हो गए, लेकिन 13 हजार 555 को अपनी जान गवानी पड़ी है। संक्रमण के बढ़ जाने का खतरा अब भी बरकरार है। डॉक्टरों ने कोरोना रोकथाम के उपायों का सख्ती से पालन करते रहने की हिदायत दी है। सभी से टीका लगवाने के लिए भी कहा जा रहा है।

Leave a Reply