रायपुर। छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने धर्मांतरण के मुद्दे पर भाजपा को घेरते हुए दिया बयान| सीएम ने कहा- भाजपा के शासनकाल काल में जितनी भी चर्च बने हैं वो आंकड़े उठा कर देख लीजिए की छत्तीसगढ़ बनने के बाद सर्वाधिक चर्च भाजपा के शासनकाल में ही बने हैं| भाजपा आज जब सत्ता में नहीं है, तो उन्हें सत्ता में वापसी के लिए धर्मांतरण का एक सहारा चाहिए| मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने यह बात भाजपा के धर्मांतरण को लेकर प्रदेश सरकार पर लगाए आरोपों के संदर्भ में कही| गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले के राजमेरगढ़ और अमरकंटक के दौरे पर रवाना होने से पहले पत्रकारों से चर्चा में सीएम ने कहा कि प्रदेश में अलग अलग घर्म के मानने वाले लोग हैं, जहां हम निवास करते हैं वहां किसी धर्म के मानने वाले लोगों की संख्या अधिक होती है, वहां आस्था का केंद्र, पूजा गृह बनाया जाता है| उन्होंने चुनौती देते हुए कहा कि प्रदेश में अगर एक भी जबरिया धर्मांतरण कराया गया हो तो एक भी केस बताए उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही करेंगे| इसके साथ ही उन्होंने भाजपा के चिंतन शिविर पर कहा कि इस बैठक में 15 साल की कुशासन पर चर्चा हो रही है, रमन सिंह को घेरा कर उनके शासन काल को कटघरे के खड़ा किया जा रहा है| वहीं बढ़ती महंगाई पर भूपेश बघेल ने कहा कि महंगाई तो चरम पर है| लोग स्मृति जी को ढूंढ रहे हैं. कुछ नया तो कर नहीं रहे हैं. उल्टे जो है उसे बेचने का काम कर रहे हैं| छत्तीसगढ़ के कबीरधाम जिले से पिछले महीने के 30 अगस्त को पादरी को 100 लोगों द्वारा धर्मांतरण कराने को लेकर पिटे जाने की खबर थी| छत्तीसगढ़ में धर्मांतरण का मुद्दा बड़ा फ़िलहाल राजनैतिक नहीं है, हालांकि आरोप-प्रतिआरोप का सिलसिला चलता रहता है|

By Desk

Leave a Reply Cancel reply