सोशल मीडिया पर फेक फॉलोवर्स जुटाने के मामले में आरोपित सिंगर बादशाह की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। इस मामले की जाँच कर रही मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच ने सिंगर के खिलाफ एक साल से भी अधिक समय के बाद अब चार्जशीट फाइल कर दिया है। क्राइम ब्रांच द्वारा दायर 446 पन्नों की चार्जशीट में बताया गया है कि गायक आदित्य प्रतीक सिंह उर्फ ​​​​बादशाह ने यू्ट्यूब पर 72 लाख व्यूज पाने के लिए 74 लाख रुपए का भुगतान किया था।

मिड डे की रिपोर्ट के मुताबिक, चार्जशीट में 11 पंच, 25 गवाह और पाँच आरोपितों के नाम शामिल किए गए हैं। इनमें से चार आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है। जाँच एजेंसी ने बादशाह और कोएना मित्रा के अलावा Chtrbox, Qyuki Digital Media Pvt Ltd और Sony Music India के अधिकारियों को गवाह बनाया है। उल्लेखनीय है कि फेक व्यूज का यह केस पिछले साल जुलाई 2020 में उस दौरान सामने आया था, जब गायिका भूमि त्रिवेदी ने मुंबई पुलिस में शिकायत दर्ज कराई कि किसी अज्ञात व्यक्ति ने इंस्टाग्राम पर उनके नाम से एक फर्जी आईडी बनाई है। इस मामले की जाँच का जिम्मा फिलहाल बर्खास्त किए गए इंस्पेक्टर सचिन वाजे को सौंपी गई थी। सचिन वाजे उस दौरान क्राइम इंटेलीजेंस यूनिट में थे।

वाजे के सामने बादशाह ने ये कबूल किया था कि वह एक समझौते के तहत सोनी म्यूजिक इंडिया कंपनी से जुड़े थे। उन्होंने ‘पागल है’ गाना रिकॉर्ड किया था और इसे सोनी म्यूजिक इंडिया को दे दिया, जिसे सोनी अपने यूट्यूब चैनल पर प्रसारित करने वाला था। बादशाह ने सोनी से कहा कि अगर इस गाने को 24 घंटे में 72 लाख व्यूज मिले तो यह वर्ल्ड रिकॉर्ड होगा। बादशाह ने क्राइम ब्रांच को दिए एक बयान में कहा, “मैंने क्यूकी डिजिटल मीडिया प्राइवेट को 74,26,370 रुपए (18% जीएसटी सहित) का भुगतान किया था।”

इस मामले में ‘क्यूकी डिजिटल मीडिया प्राइवेट लिमिटेड’ के सीएफओ महेंद्र पटेल ने क्राइम ब्रांच के सामने बताया था कि उनकी कंपनी तैयार विज्ञापनों की वीडियो कंटेंट को प्रमोट करती है। उन्होंने कहा, “बादशाह के गाने ‘पागल है’ के प्रचार के लिए सोनी म्यूजिक के जय मेहता ने हमारी कंपनी से संपर्क किया। हमारी कंपनी ने बादशाह के गाने ‘पागल है’ को यूट्यूब पर प्रमोट किया और बदले में बादशाह से जीएसटी के साथ 74,26,370 रुपए लिए गए थे।”

सोनी म्यूजिक इंडिया के सीनियर मार्केटिंग डायरेक्टर सनुजीत भुजबल ने भी क्यूकी डिजिटल मीडिया प्राइवेट लिमिटेड से डील को स्वीकार किया है। इस मामले के एक आरोपित और एथिकल हैकर प्रेमेंद्र शर्मा ने मिड-डे को बताया कि उसके जरिए 7-8 लोगों के फॉलोअर्स बढ़ाए गए थे। शर्मा के अलावा अन्य आरोपी अभिषेक दावड़े, कासिफ मंसूर, विजय बंथिया और तबीश अली मीर फिलहाल हैं।

Leave a Reply