लखनऊ के बापू भवन में एक अवर सचिव स्तर के अधिकारी को एक संविदा कर्मचारी से छेड़छाड़ के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। आरोपित इच्छाराम यादव अल्पसंख्यक कल्याण विभाग में सेक्शन इंचार्ज के पद पर तैनात हैं।

बुधवार (11 नवंबर, 2021) शाम उत्तर प्रदेश में अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के एक अधिकारी द्वारा छेड़छाड़ की इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद इच्छाराम यादव को गिरफ्तार किया गया है।

पीड़िता ने आरोप लगाया है कि अवर सचिव वर्ष 2018 से उसे परेशान कर रहा था। उसने कहा कि शिकायत करने पर उसे नौकरी से बर्खास्त करने की भी धमकी दी गई थी। हाल ही में, उसने हिम्मत जुटाई और इच्छाराम यादव का एक वीडियो बनाया, जिसमें उसे महिला पर जबरदस्ती करते देखा जा सकता है। महिला उसे धक्का देने की भी कोशिश करती है।

उत्पीड़न की इस घटना के बाद महिला ने 29 अक्टूबर को हुसैनगंज थाने में शिकायत दर्ज कराई। महिला ने पुलिस के सामने ऐसी घटनाओं के कई वीडियो सबूत के तौर पर पेश किए।

पूरे मामले के सामने आने के बाद लखनऊ के हुसैनगंज पुलिस थाने में आरोपित इच्छाराम यादव के विरुद्ध एफआईआर दर्ज हुई है। इच्छाराम यादव के विरुद्ध 29 अक्टूबर, 2021 को आईपीसी की धारा 354, 506 और 294 के तहत मामला दर्ज किया गया।

पीड़िता की पहचान को गुप्त रखा गया है और केवल इतना समाचार सामने आया है कि पीड़िता की उम्र 30 वर्ष है और वह एक शादीशुदा महिला है। पीड़िता ने एफआईआर में इच्छाराम यादव पर यह आरोप भी लगाया कि इस व्यक्ति ने महिला के साथ ‘बाथरूम में उसका मनोरंजन करने’ की माँग भी की थी।

पीड़िता ने आरोप लगाया कि पुलिस शुरू में इच्छाराम यादव को गिरफ्तार इसलिए नहीं गिरफ्तार कर पाई क्योंकि एक अवर सचिव के रूप में उसकी अपने पद पर मजबूत पकड़ है। जब महिला को और कोई विकल्प नहीं मिला तो उसने निराश होकर वायरल हो रहे वीडियो को सार्वजनिक करने का फैसला किया।

एडीसीपी सेंट्रल ख्याति गर्ग के अनुसार, इस मामले में 29 अक्टूबर को मामला दर्ज किया गया था और मामले की जाँच की जा रही है। उन्होंने कहा कि महिला को अपना बयान दर्ज करने के लिए कई बार बुलाया गया था। बयान दर्ज करने और दोनों पक्षों के साक्ष्यों की जाँच करने के बाद कार्रवाई की जाएगी।

घटना के सामने आने के बाद इच्छाराम यादव को गिरफ्तार कर लिया गया है।

By Desk

Leave a Reply Cancel reply