भारत-पाकिस्तान मैच के दौरान छात्रों के दो गुटों में हुई लड़ाई के बाद छह छात्रों को शारदा विश्वविद्यालय ने निलंबित कर दिया था। इस मामले में मुख्यमंत्री के आग्रह के बाद जम्मू-कश्मीर के प्रिंसिपल रेजीडेंट कमिश्नर के.के.वी. अग्रवाल ने निलंबित छात्रों और उप कुलपति से मुलाकात की।

विश्वविद्यालय की चार सदस्यीय समिति इस मामले की सोमवार से जांच करेगी। एशिया कप में भारत-पाकिस्तान मैच के दौरान सोशल साइट पर विपक्षी टीम की तरफदारी से छात्रों के दो गुटों में लड़ाई हो गई थी।

जिसके बाद प्रशासन ने अनुशासनात्मक कदम उठाया था। जिसके तहत चार कश्मीरी और उत्तराखंड व यूपी के एक-एक छात्र को हॉस्टल से निलंबित कर दिया था।

मेरठ से आए मैसेज ने भड़काई आग

Read more: https://www.amarujala.com/delhi-ncr/india-pak-match-dispute-6-kashmiri-students-suspended?pageId=1

बता दें कि इसी मैच के दौरान हुई नारेबाजी के मामले में सुभारती विश्वविद्यालय, मेरठ के कई छात्रों को निलंबित किया गया था। इस घटना के बाद सोशल साइट पर आए एक मैसेज को लेकर शारदा यूनीवर्सिटी के छात्रों में भी मारपीट हुई थी।

विश्वविद्यालय के डीन डॉ. रनवीर सिंह ने बताया कि कश्मीरी छात्रों का मामला होने के कारण शनिवार को जम्मू-कश्मीर के प्रिंसिपल रेजीडेंट कमिश्नर ने उप कुलपति से मुलाकात की।

इसके बाद निलंबित छात्रों ने उनके समक्ष माफी मांगी। मामले की जांच के लिए गठित कमेटी इस घटना की बारीकी से जांच करेगी

Leave a Reply