लखीमपुर हिंसा मामलें के खिलाफ महाराष्ट्र सरकार उत्तरी सड़क पर, कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी का राजयभर में बंद जारी, 8 पब्लिक बस में की गई तोड़फोड़, ऑटोरिक्शा की ड्राइवर की भी हुई पिटाई

NATIONAL POLITICAL STATE

मुंबई| महाराष्ट्र महाविकास अघाड़ी सरकार के तीनों दलों, यानी कांग्रेस, NCP और शिवसेना ने उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में किसानों की हत्या के विरोध में 11 अक्टूबर को राज्यव्यापी बंद का आह्वान किया है। पूरे राज्य में बंद की शुरुआत हो चुकी है। मुंबई, पुणे, नागपुर समेत सभी बड़े शहरों में सड़कों से गाड़ियां गायब हैं और दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद हैं। मुंबई में बेस्ट की 8 बसों को तोड़ने की जानकारी भी सामने आ रही है। शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने बंद से पहले कहा कि तीनों दलों के नेता और कार्यकर्ता इस बंद को सफल बनाने का पूरा प्रयास करेंगे।

महाराष्ट्र बंद अपडेट-

  • बेस्ट की ओर से बताया गया है कि देर रात से अब तक शहर के अलग-अलग हिस्से में उनकी 8 बसों को क्षतिग्रस्त किया गया है।
  • नंदुरबार जिले में कड़ी सुरक्षा, 1100 पुलिसकर्मी व 100 अधिकारी के साथ 400 होमगार्ड के जवान तैनात।
  • लासलगांव मंडी समिति में प्याज और अनाज की नीलामी आज बंद है। 25-30 करोड़ रुपये के नुकसान का अनुमान लगाया गया है।
  • औरंगाबाद में कांग्रेस और NCP कार्यकर्ताओं ने सड़क पर उतर कर केंद्र सरकार पर प्रोटेस्ट किया है।
  • बीड में किसानों के समर्थन में शिवसैनिक रोड पर दुकानें खोलने वाले व्यापारियों को गुलाब का फूल देकर बंद में शामिल होने की अपील कर रहे हैं।
  • महाराष्ट्र के कल्याण में राकांपा कार्यकर्ता ने चेतावनी दी है कि अगर उन्हें प्रोटेस्ट के दौरान गिरफ्तार किया गया तो वे शरीर पर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा देंगे।
  • मुंबई के एक वकील ने बॉम्बे हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश दीपांकर दत्ता को पत्र लिखकर महाराष्ट्र की सत्तारूढ़ पार्टी महाविकास अघाड़ी द्वारा बुलाए गए बंद के खिलाफ स्वतः संज्ञान ले कर कार्रवाई का निर्देश देने की प्रार्थना की है।
  • कोल्हापुर में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने दावा किया कि आज का महाराष्ट्र बंद पूरी तरह विफल रहा है।
  • मुंबई कांग्रेस के कार्यकर्ता राजभवन के बाहर प्रोटेस्ट के लिए जमा हो रहे हैं। नाना पटोले ने कहा है कि वे शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन करेंगे।
  • ठाणे में शिवसेना कार्यकर्ताओं ने सड़क पर चल रहे ऑटोवालों की पिटाई की है। यहां के नौपाड़ा इलाके में तोड़फोड़ करने का प्रयास कर रहे एनसीपी कार्यकर्ताओं को पुलिस के खदेड़ा।
  • कांग्रेस प्रवक्ता सचिन सावंत ने कहा, “लोगों को केंद्र सरकार की किसान विरोधी नीतियों के प्रति जागरूक करने की जरूरत है। इस संघर्ष में किसान अकेले नहीं हैं और उनके साथ एकजुटता दिखाने की प्रक्रिया महाराष्ट्र से शुरू होनी चाहिए।” राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा, ‘‘आधी रात से प्रदेश व्यापी बंद की शुरूआत हो चुकी। शिवसेना, NCP और कांग्रेस के कार्यकर्ता नागरिकों से मिल रहे हैं और उनसे बंद में शामिल होने तथा किसानों के साथ एकजुटता दिखाने का आग्रह कर रहे हैं।”

महाराष्ट्र बंद के दौरान इन सेवाओं पर नहीं पड़ेगा प्रभाव

  • अस्पताल और मेडिकल स्टोर खुले रहेंगे।
  • रेलवे सेवा पर नहीं पड़ेगा प्रभाव।
  • लोकल ट्रेन चलती रहेंगी, लेकिन कुछ जगहों पर ‘रेल रोको आंदोलन’ के कारण सर्विस प्रभावित हो सकती हैं।
  • किराना, फल और सब्जी की दुकानें, दूध और बेकरी की दुकानें बंद नहीं होंगी।
  • बंद के दौरान सरकारी और प्राइवेट ऑफिस खुलेंगे।
  • स्कूल खुलेंगे, लेकिन बस और टैक्सी सर्विस बंद रहने के कारण छात्रों की संख्या प्रभावित हो सकती है।
  • मुंबई में बेस्ट ने आधिकारिक रूप से इस बंद में शामिल होने का ऐलान नहीं किया है।
  • सभी दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। फेडरेशन ऑफ रिटेल वेलफेयर एसोसिएशन ने बंद का समर्थन किया है।
  • कृषि उपज मंडियां बंद
  • जानकारी के मुताबिक, राज्य के ज्यादातर जिलों में कृषि उपज मंडियों में कामकाज बंद रहेगा। कृषि उपज मंडी ट्रेडर्स एसोसिएशन ने राज्य के किसानों से भी आग्रह किया है कि वह 11 अक्टूबर को कृषि उपज लेकर मंडियों में न आएं। फेडरेशन ऑफ रिटेल ट्रेडर्स असोसिएशन के अध्यक्ष वीरेन शाह ने कहा कि शाम 4 बजे तक दुकानदारों को बंद में शामिल होने की अपील की गई है। इससे पहले एसोसिएशन ने बंद से बाहर रहने का फैसला लिया था।

BJP ने बंद का विरोध किया


नेता विपक्ष देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि प्राकृतिक आपदाओं और बाढ़ से राज्य के किसान बेहाल हैं। उसकी तरफ ध्यान देने के बजाय सरकार लखीमपुर खीरी घटना का राजनीतिक लाभ उठाने के लिए बंद का आयोजन कर रही है।

बड़े पैमाने पर पुलिस बंदोबस्त


बंद के दौरान किसी अप्रिय घटना को टालने के लिए मुंबई में बड़े पैमाने पर पुलिसकर्मियों को तैनात किया जा रहा है। पुलिस की गश्त बढ़ा दी गई है। इसके अलावा SRPF की तीन कंपनियां, होमगार्ड के 500 जवान और स्थानीय सशस्त्र इकाइयों के 400 जवान नवरात्रि के दौरान सुरक्षा के लिए पहले से तैनात हैं।

पूरी ताकत से उतरेगी शिवसेना


वहीं शिवसेना के सांसद और प्रवक्ता संजय राउत ने कहा है कि बंद को सफल बनाने के लिए शिवसैनिक पूरी ताकत से सड़कों पर उतरेंगे। उन्होंने मुंबई के व्यापारियों से अपील की है कि किसान देश के अन्नदाता हैं, उनके खिलाफ जो जुल्म और अत्याचार हो रहे हैं, उसका विरोध करने के लिए यह नंद आयोजित किया गया है। इस बंद का हर किसी को खुले दिल से स्वागत करना चाहिए। उन्होंने कहा कि लखीमपुर खीरी की घटना किसानों पर सीधा-सीधा हमला है और इस हमले का विरोध करना हर नागरिक का कर्तव्य है।

कृषि कानून बना किसानों को लूटा जाएगा: मलिक


बंद को लेकर नवाब मलिक ने कहा, ‘‘भारतीय जनता पार्टी की अगुवाई वाली केंद्र सरकार ने तीन कानून बना कर कृषि उत्पादों की लूट की अनुमति दे दी है और अब इनके मंत्रियों के रिश्तेदार किसानों की हत्या कर रहे हैं। हमें कृषकों के साथ एकजुटता दिखानी होगी।’’ NCP नेता कहा कि महाविकास अघाड़ी की मांग है कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र को बर्खास्त किया जाए। उन्होंने कहा, ‘‘सुप्रीम कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद मंत्री के बेटे को गिरफ्तार किया गया।’’

मंत्री का बेटा हुआ है गिरफ्तार


लखीमपुर खीरी में तीन अक्टूबर को हुई हिंसा के मामले में पुलिस ने केंद्रीय मंत्री के बेटे आशीष मिश्र को शनिवार की रात गिरफ्तार कर लिया। आशीष पर आरोप है कि यूपी के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के कार्यक्रम का विरोध कर रहे किसानों को कुचलने वाले वाहनों में से एक में वह सवार था। इस हादसे में चार किसानों की मौत हो गई थी। वहीं एक पत्रकार समेत 4 अन्य लोगों की भी मौत हुई थी।

Leave a Reply