कवर्धा में तीन अक्टूबर को हुई हिंसा और फिर पुलिस-प्रशासन की कार्रवाई को लेकर सर्व हिंदू समाज में मंत्री मोहम्मद अकबर को लेकर रोष व्याप्त है। इसे लेकर गुरुवार शाम गौरव पथ स्थित पेट्रोल पंप तिराहे के पास धर्म जागरण और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने मंत्री मोहम्मद अकबर का पुतला जलाकर विरोध प्रकट किया। इस दौरान उन्होंने मोहम्मद अकबर मुर्दाबाद के नारे भी लगाए।

धर्म जागर से विष्णु राम चंद्राकर ने कहा कि दुर्गेश देवांगन, हिंदुओं और हमारे भगवा ध्वज के साथ जो घिनौना कार्य हुआ वह कभी भी स्वीकार योग्य नहीं है। हम सभी लोग उसका विरोध करते हैं। इतना ही नहीं इसका शह देने वाले मोहम्मद अकबर को हमेशा मुर्दाबाद ही कहेंगे। उसको कभी उठने नहीं देंगे। हिंदू समाज यह जान चुका है कि मोहम्मद अकबर पूरा-पूरा हिंदू विरोधी है, इसलिए समाज उसे कभी स्वीकार नहीं करेगा।

बजरंग दल के जिला सह संयोजक दीपक यादव ने कहा कि कवर्धा में जो हुआ है उसे हिंदू धर्म कभी भुला नहीं सकता। इस तरह भगवा ध्वज का अपमान स्वीकार योग्य नहीं है। इस सारे घटनाक्रम में मंत्री मोहम्मद अकबर का शह प्राप्त था। इसलिए यहां उसका पुतला दहन करके मुर्दाबाद के नारे लगाए जा रहे हैं। जिससे की यह आवाज शासन प्रशासन तक पहुंचे। प्रदर्शनकारियों ने मामले में एक तरफा कार्रवाई करने का आरोप लगाया है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि मोहम्मद अकबर को बर्खास्त किया जाए ताकि जो आक्रोश समाज में चल रहा है वह कम हो।

Leave a Reply