कन्नड़ फिल्मों के प्रसिद्ध अभिनेता पुनीत राजकुमार का 29 अक्टूबर 2021 (शुक्रवार) को निधन हो गया। वह मात्र 46 वर्ष के थे। उनकी मृत्यु का कारण हार्ट अटैक बताया जा रहा है। उनके निधन से फिल्म जगत गहरे शोक में डूब गया है।

पुनीत राजकुमार दक्षिण भारतीय फिल्मों के सबसे महँगे कलाकारों में से एक थे। उनके चाहने वालों में समाज का हर तबका शामिल था। हालाँकि, पुनीत राजकुमार के जीवन का एक और बेहद सकारात्मक और भावनात्मक पहलू भी है। पुनीत परोपकारी स्वभाव के थे। वो जरूरतमंदों की मदद के लिए हमेशा तैयार रहते थे।

कोरोना महामारी के दौरान दिया था महत्वपूर्ण योगदान

पुनीत की सबसे बड़ी खासियत यह थी कि वो अपने किए गए नेक कार्यों का कभी प्रचार नहीं करते थे। वो सामाजिक संस्थाओं को दिल खोलकर मदद किया करते थे। जब देश कोरोना महामारी से जूझ रहा था, तब उन्होंने 50 लाख रुपये सहयोग के तौर पर दान किए थे। यह पैसे उन्होंने कर्नाटक सरकार के रिलीफ फंड में दिए थे।

न सिर्फ आर्थिक मदद, बल्कि पुनीत ने कोरोना के खिलाफ जागरूकता अभियान में भी सक्रिय भागीदारी निभाई थी। 2020 से 2021 तक वो कोरोना के विरुद्ध जागरूकता के कई कार्यक्रमों में भागीदार रहे। पुनीत के समाज के लिए दिए योगदान को कर्नाटक के तत्कालीन मुख्यमंत्री बी एस येदुरप्पा ने भी सराहा था। तब उन्होंने आधिकारिक हैंडल से ट्वीट कर के पुनीत के जनकल्याण में किए गए कार्यों के बारे में बताया था। यह ट्वीट 31 मार्च 2020 को किया गया था।

Leave a Reply