अमेरिका के लोग अक्टूबर को ‘हिंदू विरासत माह’ के रूप में मना रहे हैं। समुदाय के नेताओं ने सोमवार (25 अक्टूबर 2021) को इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि देश के 50 में से 20 से अधिक राज्यों और 40 से अधिक शहरों ने इसके बारे में घोषणाएँ की है।

अमेरिका में हिंदू संगठनों की इस पहल का निर्वाचित प्रतिनिधियों ने स्वागत किया है। उन्होंने देश में इस अल्पसंख्यक समुदाय के योगदान को पहचानने के लिए घोषणाएँ और अधिसूचनाएँ जारी की हैं।

दरअसल, दुनिया भर में हिंदू अक्टूबर माह के आस-पास नवरात्रि और दीपावली मनाते हैं। इसलिए, इस महीने को अमेरिका स्थित कई हिंदू संगठनों ने ‘हिंदू विरासत माह’ के रूप में मनाने का फैसला किया है। एक मीडिया विज्ञप्ति में कहा गया है, “योग से भोजन तक, उत्सव से लेकर परमार्थ तक, नृत्य से लेकर संगीत तक और अहिंसा से लेकर गहन दर्शन तक हिंदुओं के इन तौर-तरीकों ने अमेरिका में सभी के जीवन पर प्रभाव डाला है।”

‘हिंदू विरासत माह’ को लेकर जिन राज्यों ने अधिसूचना जारी की है उनमें टेक्सास, ओहायो, न्यू जर्सी, मैसाचुसेट्स, जॉर्जिया, फ्लोरिडा, मिनेसोटा, वर्जीनिया, नेवादा, मिसिसिपी, डेलावेयर, उत्तरी कैरोलिना, पेंसिल्वेनिया, मैरीलैंड, न्यू हैम्पशायर, कनेक्टिकट, विस्कॉन्सिन, मिसौरी, इंडियाना और मिशिगन शामिल हैं।

मिशिगन में ट्रॉय, कैलिफोर्निया में इरविन, ओरेगन में पोर्टलैंड और टेक्सास में इरविंग और ह्यूस्टन अक्टूबर को हिंदू विरासत माह के रूप में मान्यता देने वाले कुछ शहर हैं। विज्ञप्ति में आगे कहा गया है कि देश भर में अमेरिकी नेताओं के लिए प्राचीन हिंदू पद्धति का योगदान और अमेरिकी समाज में हिंदुओं की सक्रिय भूमिका काबिलेतारीफ है।

अमेरिकी कॉन्ग्रेस के सदस्य ट्रॉय बाल्डरसन ने अपने मान्यता पत्र (letter of recognition) में हिंदू अमेरिकी समुदाय के इस फैसले को स्वीकार किया है। कॉन्ग्रेस सदस्य राजा कृष्णमूर्ति ने हिंदू धर्म को ‘विशिष्ट बहुलवादी’ बताया है। मैसाचुसेट्स राष्ट्रमंडल के गवर्नर चार्ली बेकर ने कहा है कि जीवंत हिंदू समुदाय ने ‘राष्ट्रमंडल की जीवन शक्ति में जबरदस्त योगदान दिया।

हिंदू नेता बिंदू पटेल ने समुदाय की सराहना करने और हिंदू विरासत माह गतिविधियों का समर्थन करने के लिए आभार व्यक्त करते हुए कहा कि हिंदू स्वयंसेवक संघ (एचएसएस) स्थानीय धार्मिक समुदाय के साथ काम कर रहा है और समाज को कुछ देने की भावना से दीपावली को ‘सेवा दिवाली-भोजन अभियान’ के तौर पर मना रहा है। विज्ञप्ति में कहा गया है, “इस साल दीपावली नवंबर के पहले सप्ताह में है। अत: ऐसी उम्मीद की जाती है कि हिंदू विरासत माह स्वाभाविक तौर पर कुछ और हफ्तों तक बढ़ाया जाएगा।”

मिशिगन में ट्रॉय, कैलिफोर्निया में इरविन, ओरेगन में पोर्टलैंड और टेक्सास में इरविंग और ह्यूस्टन अक्टूबर को हिंदू विरासत माह के रूप में मान्यता देने वाले कुछ शहर हैं। विज्ञप्ति में आगे कहा गया है कि देश भर में अमेरिकी नेताओं के लिए प्राचीन हिंदू पद्धति का योगदान और अमेरिकी समाज में हिंदुओं की सक्रिय भूमिका काबिलेतारीफ है।

अमेरिकी कॉन्ग्रेस के सदस्य ट्रॉय बाल्डरसन ने अपने मान्यता पत्र (letter of recognition) में हिंदू अमेरिकी समुदाय के इस फैसले को स्वीकार किया है। कॉन्ग्रेस सदस्य राजा कृष्णमूर्ति ने हिंदू धर्म को ‘विशिष्ट बहुलवादी’ बताया है। मैसाचुसेट्स राष्ट्रमंडल के गवर्नर चार्ली बेकर ने कहा है कि जीवंत हिंदू समुदाय ने ‘राष्ट्रमंडल की जीवन शक्ति में जबरदस्त योगदान दिया।

हिंदू नेता बिंदू पटेल ने समुदाय की सराहना करने और हिंदू विरासत माह गतिविधियों का समर्थन करने के लिए आभार व्यक्त करते हुए कहा कि हिंदू स्वयंसेवक संघ (एचएसएस) स्थानीय धार्मिक समुदाय के साथ काम कर रहा है और समाज को कुछ देने की भावना से दीपावली को ‘सेवा दिवाली-भोजन अभियान’ के तौर पर मना रहा है। विज्ञप्ति में कहा गया है, “इस साल दीपावली नवंबर के पहले सप्ताह में है। अत: ऐसी उम्मीद की जाती है कि हिंदू विरासत माह स्वाभाविक तौर पर कुछ और हफ्तों तक बढ़ाया जाएगा।”

Leave a Reply