टोक्यो ओलिंपिक 2021 में भाला फेंक का स्वर्ण पदक जीतने वाले एथलीट नीरज चोपड़ा को इस साल के मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार के लिए चुना गया है. नीरज के अलावा टोक्यो ओलिंपिक और पैरालिंपिक में जलवा बिखेरने वाले कुछ अन्य खिलाड़ियों, महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज (Mithali Raj) और फुटबॉल टीम के कप्तान सुनील छेत्री (Sunil Chhetri) समेत 10 अन्य को भी देश के सर्वोच्च खेल सम्मान के लिए चुना गया है. ये पहली बार है जब एक साथ 11 खिलाड़ियों को खेल रत्न से सम्मानित किया जाएगा. नीरज चोपड़ा, मिताली राज, सुनील छेत्री के अलावा पहलवान रवि दहिया, बॉक्स लवलीना बोरगोहेन, हॉकी टीम के गोलकीपर पीआर श्रीजेश, बैडमिंटन खिलाड़ी प्रमोद भगत, भाला फेंक एथलीट सुमित अंतिल, निशानेबाज अवनी लेखरा, बैडमिंटन खिलाड़ी कृष्णा नागर और निशानेबाज एम नारवाल शामिल हैं. वहीं शिखर धवन समेत 35 खिलाड़ियों को अर्जुन पुरस्कार के लिए चुना गया है. ओलिंपिक और पैरालिंपिक खेलों के कारण इस साल खेल पुरस्कारों के ऐलान को टाल दिया गया था, जिसके कारण इस बार पुरस्कारों में देरी हुई है. ये पहला मौका है, जब एक साथ इतने सारे एथलीटों को खेल रत्न के लिए चुना गया है. पिछले साल 5 खिलाड़ियों को इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. इस बार ओलिंपिक और पैरालिंपिक खिलाड़ियों का जलवा रहा. नीरज समेत टोक्यो ओलिंपिक में देश का नाम रोशन करने वाले 4 मेडल विजेताओं को शामिल किया गया है, जबकि टोक्यो पैरालिंपिक के कई विजेताओं में से 5 खिलाड़ियों को इस बार सम्मानित किया जाएगा. राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों के लिए तैयार की गई कमेटी ने 11 खेल रत्न के अलावा 35 अर्जुन पुरस्कारों का भी ऐलान किया.

By Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published.