छत्तीसगढ़ के दुर्गम और पहाड़ी इलाकों में सड़क नहीं होने की वजह से आम लोगों के साथ-साथ बच्चों और शिक्षकों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बलरामपुर जिले में सड़क नहीं होने की वजह से शिक्षक मिड डे मील का राशन कंधों पर लादकर स्कूल ले जा रहे हैं। शिक्षकों का यह वीडियो वायरल होने के बाद शिक्षा विभाग हरकत में आया है। 

छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिले में शिक्षकों के कंधों पर पानी हेलकर मिड डे मील का राशन ले जाने वाला वीडियो वायरल हुआ है। शिक्षक आठ किलोमीटर पैदल चलकर मिड डे मील का राशन ले जा रहे हैं। सड़क नहीं होने की वजह से शिक्षक पानी हेलकर राशन ले जा रहे हैं। शिक्षकों ने शासन से सड़क बनाने की मांग की है। वहीं, वीडियो वायरल होने के बाद शिक्षा विभाग भी हरकत में आया है। शिक्षा विभाग के अधिकारी ने बताया कि दो शिक्षकों ने कंधों पर मध्याह्न भोजन का राशन ले जाने का मामला प्रकाश में आया है।

सुशील यादव और पंकज अपने कंधों पर मध्याह्न भोजन का राशन ले जा रहे हैं। पहाड़ी इलाकों की वजह से यहां पर आना जाने की सुविधा नहीं है। पहाड़ी इलाके में स्कूल होने की वजह से यहां के छात्रों को भी कठिनाई होती है। जिला शिक्षा अधिकारी बी एक्का ने कहा कि दोनों शिक्षकों का यह प्रयास वाकई सराहनीय है। दोनों शिक्षकों के कार्य को सलाम करता हूं।

Leave a Reply