रायपुर| छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की राजधानी रायपुर (Raipur) पुलिस को गुंडे और बदमाश लगातार चुनौतियां दे रहे है. कैदियों के पुलिस को चकमा देकर फरार होने की वारदात भी लगातार बढ़ रही है. बीते चार महीने के भीतर अलग- अलग मामले के तीन बंदी और आरोपी पुलिस को चकमा देकर फरार हो चुके है. गुरुवार को एक और बंदी पेशी के दौरा पुलिस को चकमा देकर फरार होने में सफल हो गया. बहुचर्चित पंकज बोथरा हत्याकांड (Pankaj Bothra murder case) का आरोपी अनूप झा पुलिस को चकमा देकर हथकड़ी के साथ कोर्ट से भाग निकला. हालांकि कैदी के भागने का रायपुर में यह कोई पहला मामला नहीं है. इसके बाद अब पुलिस की कार्य प्रणाली पर कई सवाल खड़े हो रहे हैं.

पंकज बोथरा हत्याकांड का आरोपी अनुप झा को विशेष न्यायाधीश विजय कुमार होता की कोर्ट में पेशी के लिए लाया गया था. आरक्षक राजेन्द्र प्रसाद पटेल क्रमांक 2477 उसे पेशी में लेकर आया था. इसी दौरान मौका पाकर आरोपी कोर्ट से पुलिस आरक्षक को चकमा देकर फरार हो गया.

Leave a Reply