दुबई| दुबई में शुक्रवार शाम होने वाले IPL फाइनल की दीवानगी अचानक से ऐसे चढ़ी कि लोगों ने एक लाख रुपये के टिकट भी खरीदे हैं। लेकिन ये हुआ 10 अक्टूबर की रात 11 बजे के बाद। जब क्वालिफायर में दिल्ली को हराकर चेन्नई सुपरकिंग्स फाइनल में पहुंच गई।

महेंद्र सिंह धोनी की टीम के IPL फाइनल में पहुंचते ही टिकट धड़ाधड़ बिकने लगे। इससे पहले ये आलम था कि तीनों स्टेडियम शेख जायद क्रिकेट स्टेडियम अबू धाबी, शारजाह क्रिकेट स्टेडियम और दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम के आयोजक टिकटों की बिक्री पर साफ-साफ बात नहीं कर रहे थे। लेकिन फाइनल के बारे में दुबई के आयोजकों ने पूरे उत्साह से बात की।

कई मैच देखकर वापस लौटे कौशिक सेन ने भी यही बताया क्वालिफायर 1 तक सीटें खाली रह रही थीं, लेकिन फाइनल की एकदम तस्वीर उलट गई है।

IPL का फाइनल दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम खेला जाएगा। इस स्टेडियम की दर्शक क्षमता 25 हजार की है। कोरोना के नियमों के चलते 50% यानी 12 हजार 500 टिकट बेचने की अनुमति है। खबर लिखे जाने तक 1 लाख रुपए वाली 36 सीटों को छोड़कर 12 हजार 464 टिकट बिक चुके हैं।

स्टेडियम में कुल 5 तरह की टिकट हैं

  • जनरल सीट का टिकटः गुरुवार शाम तक 100% टिकट बिक चुके थे। इनकी कीमत 200 दिरहम है। 1 दिरहम यानी भारत के करीब 20 रुपए। इसका मतलब ये है कि IPL फाइनल की जनरल सीट का टिकट 4000 रुपए का है।

  • जनरल एंट्रेस कैटेगरी का टिकटः यानी मैदान सटी हुई आगे की सीटें। इसकी कीमत 400 दिरहम, यानी 8 हजार रुपए है। ये भी पूरी तरह भर चुकी हैं।
  • ड्रेसिंग रूम के पास वाली सीटों का टिकटः 700 दिरहम, यानी 14 हजार रुपए वाली ड्रेसिंग रूम के आसपास वाली सीटें 10 अक्टूबर के बाद तेजी से भरीं। अब 100% टिकट बिक चुके हैं।
  • प्लेटिनम टिकटः जिस स्टैंड में खिलाड़ियों के परिवार वाले बैठते हैं, उसके आसपास की सीटों के टिकट प्ले‌टिनम नाम से बेचे जा रहे हैं। इसकी कीमत 1200 दिरहम, यानी करीब 20,400 रुपए है। ये भी पूरी तरह बिक चुके हैं।
  • ग्रैंड लॉउंज टिकटः VIP दर्शकों वाला लॉउंज। इसमें कई बार BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली, सेक्रेटरी जय शाह और ICC के कुछ पदाधिकारी नजर आते हैं। कुछ खिलाड़ी अपने परिवार वालों को यहां भी बिठाते हैं। इसमें कुल 278 सीटें हैं। इसकी कीमत 5000 दिरहम, यानी 1 लाख रुपये है। गुरुवार शाम तक 36 सीटें नहीं बिकने के लिए बाकी रह गई थीं। इनकी बिक्री जारी थी।
  • धोनी का फैन हूं. इसलिए टिकट खरीदी
  • दिल्ली कैपिटल्स और कोलकाता नाइट राइडर्स का क्वालिफायर 2 देखकर लौटे कौशिक सेन ने बताया कि उन्होंने फाइनल के टिकट पहले ही बुक कर लिए थे। उन्होंने कहा, “मैं धोनी का फैन हूं। मुझे ऐसा लग रहा था इस बार धोनी की टीम फाइनल में जाएगी। इसलिए मैंने पहले ही फाइनल के टिकट्स बुक कर लिए थे। कौन जाने धोनी को खेलते हुए देखने का यह आखिरी चांस हो।”

ढोल-नगाड़े ले जाने की इजाजत नहीं, इसलिए मैदान में खूब चिल्लाते हैं लोग


कौशिक सेन ने बताया कि स्टेडियम में कोई म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट जैसे ढोल या ड्रम ले जाने की इजाजत नहीं हैं। सेल्फी स्ट‌िक, पावर बैंक कुछ भी अंदर नहीं ले जा सकते, पर अपनी टीम को उत्साहित करने के लिए लोग जोश में बहुत चिल्लाते हैं। इसका अपना अलग ही मजा है। इंडिया-पाकिस्तान का मैच भी मुझे देखना है, लेकिन उसका टिकट नहीं मिल सका।

Leave a Reply