छत्तीसगढ़ में केवल महिला होने की वजह से पंचायत कर्मी का ट्रांसफर, मंत्री ने कहा- जिम्मेदारों पर होगी कार्रवाई

CHATTISGARH

बालोद। एक ओर महिलाएं जहां पुरुषों के कंधे से कंधा मिलाकर चल रही हैं. अंतरिक्ष से लेकर किसी भी मोर्चे पर महिलाएं पुरुषों से पीछे नहीं हैं. लेकिन आज भी लोगों की महिलाओं को लेकर सोच नहीं बदल पाई है. आज भी उन्हें पुरुषों की अपेक्षा कमतर आंका जा रहा है. ऐसा ही एक मामला बालोद जिले में देखने को मिला है. जहां एक महिला कर्मी का तबादला सिर्फ इसलिए कर दिया गया कि वो एक महिला है और कार्य की अधिकता है. महिला का तबादला कर उनके जगह एक पुरुष को पदस्थ कर दिया.

मामला साल भर पुराना है लेकिन सामने आते ही हड़कंप मच गया. मामला सामने आते ही पंचायत एवं स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने नाराजगी जाहिर करते हुए जांच के आदेश दे दिए हैं. मामला बालोद जिले के जनपद पंचायत डौंडीलोहारा के भेड़ी गांव का है. यहां पदस्थ एक महिला सचिव का स्थानांतरण आदेश साल 2019 में निकाला गया. जिसमें पंचायत में काम की अधिकता बताते हुए उनकी जगह एक पुरुष सचिव को जिम्मेदारी दे दी गई. बकायदा इसका आदेश जारी किया गया.

मामले की जानकारी पंचायत एवं स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव को हुई तो उन्होंने अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए इसे दुर्भाग्यपूर्ण, गंभीर और आपत्तिजनक बताया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा, “यह आदेश अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण, गंभीर एवं आपत्तिजनक है. इस विषय में संज्ञान लेकर मैंने तुरंत इसकी जांच कराने के लिए विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया है. इस प्रकार की विचारधारा पूर्णतः अस्वीकार्य है. इस संबंध में जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त और उचित कार्रवाई की जाएगी.” मंत्री जी के ट्वीट के बाद प्रशासनिक हल्कों में हड़कंप मच गया है. जिला पंचायत सीईओ ने जनपद पंचायत डौंडी लोहारा की सीईओ से मामले में स्पष्टीकरण मांगा है

Leave a Reply