ढाका| बांग्‍लादेश में दुर्गा पूजा समारोह के दौरान हिंदू अल्‍पसंख्‍यक समुदाय के धार्मिक स्‍थलों को निशाना बनाने की घटना की बांग्‍लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने तीखी आलोचना की है. प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा कि घटना के जिम्मेदार लोगों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा. उन्होंने हिंसा के दोषियों को सजा दिलाने का वादा करते हुए कहा कि कमीला में मंदिरों और दुर्गा पूजा पंडालों पर हमला करने में शामिल उपद्रवियों को सख्‍त से सख्‍त सजा दी जाएगी.

प्रधानमंत्री शेख हसीना ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘कोमिल्ला जिले में हुई घटना की जांच की जा रही है. इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि इन उपद्रवियों का धर्म कौन सा था. इन हमलों के पीछे वही लोग हैं, जो जनता का भरोसा जीतने में नाकाम रहे हैं.’ उन्‍होंने कहा कि आगे इस तरह की कोई और घटना न हों इसके लिए दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाएगी.

मामले पर भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा, ‘बांग्लादेश में दुर्गापूजा समाराहों के दौरान धार्मिक स्थलों पर कुछ घटनाएं घटी हैं, कुछ हमले हुए, यह हमारी नजर में हैं. इस बारे में हम बांग्लादेश सरकार के साथ सम्पर्क में हैं.’ उन्होंने कहा, ‘हमने देखा है कि बांग्लादेश की सरकार ने तुरंत कार्रवाई की है और सुरक्षा के कड़े कदम उठाए हैं.’ गौरतलब है कि बांग्लादेश में दुर्गा पूजा समारोह के दौरान कुछ अज्ञात उपद्रवियों ने हिंदुओं के मंदिरों को क्षतिग्रस्त कर दिया, जिसके चलते सरकार को 22 जिलों में अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती करनी पड़ी है. इस घटना में तीन लोगों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए.

बीडीन्यूज24 डॉट कॉम समाचार वेबसाइट की खबर के मुताबिक ईशनिंदा के आरोपों के बाद, ढाका से करीब 100 किलोमीटर की दूरी पर स्थित कोमिल्ला में एक स्थानीय मंदिर बुधवार को सोशल मीडिया पर मचे बवाल का केंद्र बिंदु बन गया. झड़प के बाद प्रशासन और पुलिस ने स्थिति को नियंत्रित करने की कोशिश की. खबर में बताया गया है कि चांदपुर के हाजीगंज, चटगांव के बांसखली और कॉक्स बाजार के पेकुआ में हिंदू मंदिरों को नुकसान पहुंचाये जाने की घटनाएं भी हुई हैं.

Leave a Reply