बीजेपी के अभिजीत सरकार के अंतिम संस्कार के बाद भी कुत्ते ने साथ नहीं छोड़ा, पत्नी ने कहा – माँ के सामने की गई थी हत्या

POLITICAL STATE

कोलकाता| पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद हुई हिंसा के दौरान टीएमसी के गुंडों द्वारा बेरहमी से मारे गए भाजपा कार्यकर्ता अभिजीत सरकार के अंतिम संस्कार की तस्वीरें 12 सितंबर को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर शेयर की गईं। तस्वीरों में एक कुत्ता भी दिख रहा। यह अभिजीत सरकार का पालतू कुत्ता है। इसका जिक्र उन्होंने मौत से पहले बनाए गए अपने वीडियो में भी किया था। बंगाल बीजेपी कार्यकर्ता प्रत्युष सिंह के मुताबिक, कुत्ता अभिजीत सरकार के अंतिम संस्कार की जगह से हटने के लिए तैयार नहीं हुआ। वह वहीं पर बैठा रहा।

2 मई को भाजपा कार्यकर्ता अभिजीत सरकार ने फेसबुक लाइव के माध्यम से TMC के गुंडों की हरकतों के बारे में बताया था। उसके कुछ ही देर बाद उनकी हत्या कर दी गई थी। उन्हें पता भी नहीं था कि फेसबुक पर लाइव कैसे आते हैं, लेकिन उन्होंने किसी तरह वीडियो बनाया और बताया कि TMC के गुंडे लगातार बमबारी कर रहे हैं और उन्होंने उनके घर और दफ्तर को तहस-नहस कर डाला है। उन्होंने कहा था कि उनकी एक ही गलती है कि वे भाजपा कार्यकर्ता हैं। अभिजीत सरकार ने बताया था कि वे कुत्तों से काफी प्यार करते थे। उन्होंने कई बेसहारा कुत्तों को पाला था, जिनका कोई नहीं था। उनमें से एक मादा कुत्ते ने कुछ बच्चों को भी जन्म दिया था। अभिजीत सरकार ने एक कुत्ते की तरफ इशारा करते हुए कहा था कि गुंडों ने इसके बच्चों को भी नहीं बख्शा और उन सभी को मार डाला। उन्होंने रोते-रोते इन हरकतों के बारे में बताया था। एक अन्य वीडियो में उन्होंने बताया था कि उनके घर और NGO दफ्तर को तोड़ डाला गया है। कुत्ते के 5 बच्चे को मार डाला गया। उन कुत्तों के बच्चों की तस्वीरें अभिजीत सरकार ने अपने फेसबुक हैंडल से शेयर भी की थी। उन्होंने बताया था कि कोलकाता के बेलिहाता में वॉर्ड संख्या 30 से हिंसा की शुरुआत हुई और परेश पॉल व स्वप्न समंदर जैसे तृणमूल नेताओं के नेतृत्व में ये सब हुआ। अभिजीत सरकार ने फेसबुक के वीडियो के माध्यम से पूछा था कि क्या ये लोग मनुष्य भी हैं? उन्होंने पूछा कि उन्हें क्यों नुकसान पहुँचाया जा रहा है, उनकी क्या गलती है? इन दोनों वीडियो के अपलोड करने के बाद पीट-पीट कर उनकी हत्या कर दी गई। उन्हें उनके घर के बाहर घसीटा गया, बेरहमी से पीटा गया और तार से गला घोंट दिया गया। घर से कुछ दूरी पर उनका शव मिला था। अभिजीत सरकार की पत्नी जो इस घटना की चश्मदीद भी हैं ने एक सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट को बताया था, “भीड़ ने उनके गले में सीसीटीवी कैमरे का तार बाँध दिया। गला दबाया। ईंट और डंडों से पीटा। सिर फाड़ दिया और माँ के सामने उनकी बेरहमी से हत्या कर दी। आँखों के सामने बेटे की हत्या होते देख उनकी माँ बेहोश होकर मौके पर ही गिर गईं।”

Leave a Reply