गरियाबंद| छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में पुलिस के हांथो गांजा तस्करी मामलें में अबतक की सबसे बड़ी सफलता हांसिल की है| राजस्थान की नंबर प्लेट वाली इस्कॉर्पियो कार से पुलिस ने 632 किलों गांजा बरामद किया है| छत्तीसगढ़ में 15 अक्टूबर को जशपुर में श्रद्धालुओं पर कार चढाने की दुर्भाग्यपूर्ण घटना सामने आई थी जिसमे 2 लोगों एमपी से गांजा ले जा रहे थे| घटना के बाद से सीएम ने गांजा तस्करी पर रोक लगाने हेतु कड़े निर्देश दिए थे|

गांजा मादक पदार्थ के अवैध तस्करी में रोक लगाने हेतु पुलिस महानिदेशक एवं पुलिस महानिरीक्षक रायपुर दिए गए निर्देशानुसार गरियाबंद पुलिस अधीक्षक के द्वारा जिलों के सभी थानों के बार्ड में नाकाबंदी कर लगातार वाहनों चेकिंग हेतु सभी थानों को निर्देशित किया गया था। गांजा तस्करों की सुचना मुखबिर द्वारा पुलिस को मिली कि एक स्कार्पियो में गांजा मादक पदार्थ लेकर रायपुर की ओर ले जा रहा है कि जिसके बाद गठीत टीम वाहन चेकिंग कर रहे थे तभी एक सफेद रंग के स्कार्पियो गाड़ी नंबर RJ19-UB- 2916 को रोकवाने पर अपने वाहन को वापस गरियाबंद की ओर मोड़ कर भागने लगा। तत्तकाल ही थाना पाण्डुका प्रभारी द्वारा पुलिस कंट्रोल को सुचना देने पर सीमावर्ती थाना द्वारा भी अपने-अपने थानों में चेकिंग र्प्वाइंट एवं जिले के स्पेशल टीम को भी सक्रिय किया गया था। पाण्डुका पुलिस ने पीछा किया तो ग्राम टोईयामुड़ा के पास उक्त वाहन के चालक द्वारा वाहन को छोड़ कर फरार हो गया। कार की तलाशी में
गांजा मादक पदार्थ भरा होना पाया गया। घटना स्थल से अज्ञात फरार आरोपी के विरूद्ध देहाती नालसी अपराध क्र 01/21 धारा 20 B(ii)C नारकोटिक एक्ट की कार्यवाही कर स्टेशन वापस आया। स्टेश वापस आ कर असल नम्बरी अपराध पंजीबद्ध किया गया। अपराध पंजीबद्ध उपरांत उक्त वाहन में रखे गांजा मादक पदार्थ को समक्ष गवाहन के खोलवाने पर भूरा रंग के प्लास्टीक टेप में लिप्टा हुआ कुल 158 पैकेट प्राप्त हुआ। जिसके एक पैकेट को तौल करवाने पर वजनी 04 किलो ग्राम, कुल वजनी 632 किलो ग्राम किमती 50 लाख लगभग को समक्ष गवाहन के जप्त कर कब्जा पुलिस लिया गया। गरियाबंद पुलिस अधीक्षक ने कहा जिले में शराब, जुआ, सट्टा, हीरा, खाल, वन्य जीव के अवैध तस्करी के विरूद्ध लगातार कार्यवाही जारी रहेगा।

Leave a Reply