अंबिकापुर| अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज में पिछले 36 घंटे में 7 बच्चों की मौत का सनसनीखेज मामला सामने आया है. रायपुर और बिलासपुर से स्वास्थ्य विभाग की टीम को तलब किया गया है. स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने दिल्ली के अपने सभी कार्यक्रम स्थगित कर दिए हैं. सिंहदेव दोपहर 3:30 बजे दिल्ली से सीधे अंबिकापुर जाएंगे.

अम्बिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में बीते रात चार बच्चों की संदेहास्पद मौत हो गई है. इन बच्चों का इलाज अस्पताल के एसएनसीयू मे चल रहा था. जिस वक्त इन बच्चों की मौत हुई उस वक्त वार्ड में 50 बच्चे भर्ती थे. बच्चों की मौत के बाद परिजनों ने इलाज मे लापरवाही का आरोप लगाकर जमकर विरोध जताया है.

जिन चार बच्चों की मौत हुई, उसमेंं से एक बच्चे के पिता महेश कुमार जायसवाल ने रोत बिलखते हुए मीडिया से अपना दर्द बयां किया और वार्ड में मौजूद कर्मचारी पर गंभीर लापरवाही का आरोप लगाया. जायसवाल ने बताया कि उसके बच्चे के इलाज के दौरान उस पर मेडिकल कॉलेज अस्पताल के पास स्थित एक निजी अस्पताल मे भर्ती करने का दबाव बनाया जा रहा था.

अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज में नवजात बच्चों की मौत के मामले में बीजेपी प्रदेश उपाध्यक्ष शिवरतन शर्मा का बयान ने कहा कि पूरे प्रदेश के स्वास्थ्य व्यवस्था लचर हो गई है. डॉ. रमन सिंह के कार्यकाल में मंगवाई गई मशीनें हॉस्पिटलों में डंप पड़ी हुई हैं. मशीनों के चलाने के लिए टेक्नीशियन और विशेषज्ञों की नियुक्ति नहीं की जा रही हैं. स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव अपना दौरा स्थगित कर अंबिकापुर पहुंच रहे हैं, अच्छी बात है, लेकिन जिम्मेदारी तय होनी चाहिए. ऐसी घटना दोबारा ना हो यह तय किया जाना चाहिए.

Leave a Reply