पीएम मोदी की अध्यक्षता में हुई कोरोना की स्थिति और टीकाकरण की समीक्षा के लिए उच्च स्तरीय बैठक

HEALTH NATIONAL

नई दिल्ली| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में कोविड-19 से संबंधित स्थिति और महामारी से लड़ने के लिए 10 सितंबर को टीकाकरण अभियान की समीक्षा के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की है| सूत्रों के अनुसार, सितंबर और अक्टूबर में देश में संभावित तीसरी लहर की चर्चा के बीच पीएम मोदी की यह बैठक सामने आई है| भारत में कल 34,973 नए कोरोनो वायरस के मामले दर्ज किए गए, जो पिछले दिन की तुलना में 19 प्रतिशत कम है| देश के सक्रिय मामलों की बात करें तो यह कुल मामलों 3,31,74,954 का 1.18 प्रतिशत है|

मिली जानकारी के अनुसार, पिछले कुछ महीनों में, भारत ने कई और अस्पतालों में अतिरिक्त बेड बढ़ाए हैं| 100 से अधिक ऑक्सीजन वाहक भी आयात किए गए हैं, जो कुल मिलाकर लगभग 1,250 हैं| इस बीच, केंद्र ने अस्पतालों में लगभग 1,600 ऑक्सीजन-उत्पादन संयंत्रों के निर्माण को मंजूरी दे दी है, हालांकि पिछले महीने की शुरुआत में 300 से कम ऑक्सीजन-उत्पादन संयंत्र स्थापित किए गए थे क्योंकि आयात में समय लगता है| लगभग सभी राज्य विशेष बाल चिकित्सा वार्ड तैयार कर रहे हैं क्योंकि कुछ विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि असंक्रमित बच्चे किसी भी नए वायरस उत्परिवर्तन की चपेट में आ सकते हैं| मध्य प्रदेश सहित कई राज्य भी रेमडेसिविर जैसी एंटी-वायरल दवाओं का स्टॉक कर रहे हैं| लेकिन एक सरकारी सर्वेक्षण का अनुमान है कि दो-तिहाई भारतीयों में पहले से ही प्राकृतिक संक्रमण के माध्यम से कोविड से लड़ने वाले एंटीबॉडी हैं, और 57 प्रतिशत वयस्कों में कम से कम टीके की पहली खुराक लग चुकी है. कई स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना ​​​​है कि संक्रमण का कोई भी नया प्रकोप दूसरी लहर की तुलना में कम विनाशकारी हो सकता है| केरल पहले से ही ऐसे संकेत देख रहा है. राज्य में वर्तमान में सबसे अधिक संक्रमण हैं| जिनमें टीकाकरण या आंशिक रूप से टीकाकरण करने वाले निवासियों में से कई शामिल हैं, लेकिन इसकी मृत्यु दर राष्ट्रीय आंकड़े से काफी नीचे है|

Leave a Reply