जयपुर| राजस्थान विधानसभा में 17 सितंबर को शुन्यकाल में भाजपा ने “लैंड जिहाद” का मुद्दा उठाया है। भाजपा विधायकों ने कहा कि टोंक जिले का मालपुरा अति संवेदनशील कस्बा है। यहाँ 1950 से लेकर अब तक हुए सांप्रदायिक दंगों में 100 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं। मालपुरा शहर के विधायक कन्हैया लाल ने कहा कि इस शहर में हिंदू पलायन करने के लिए मजबूर हो रहे हैं क्योंकि मुस्लिम लगातार जमीन खरीद रहे हैं। उन्होंने कहा कि मालपुरा में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने जमीन जिहाद चला रखा है। इसके तहत हिंदुओं की जमीन प्रीमियम रेट में खरीदी जाती है और फिर आसपास के लोगों को परेशान किया जाता है। उन्हें धमकी दिया जाता है। विधायक कन्हैयालाल ने कहा कि मालपुरा में जमीन जिहाद के कारण हालात खराब हो चुके हैं। समुदाय विशेष के लोग हिंदू परिवारों को प्रताड़ित कर रहे हैं। बहन-बेटियों की तरफ अश्लील इशारे करते हैं। हिंदुओं के घरों में हड्डियाँ फेंकी जाती हैं। मालपुरा में अब तक 600 से ज्यादा हिंदू परिवारों का पलायन हो चुका है। उन्होंने कहा कि एक कड़ा कानून लाने की जरुरत है, ताकि हिंदू और जैन समुदाय से जुड़े लोग असुरक्षा की वजह से जबरन पलायन करने के लिए मजबूर ना हों। बता दें एमएलए महंत बालकनाथ के पलायन से जुड़ी खबर सामने आई थी|

पिछले दिनों प्रताड़ित हिंदुओं ने उपखंड अधिकारी को ज्ञापन देकर जमीन जिहाद रोकने की माँग की। उन्होंने कहा कि सरकार को इस मामले में कार्रवाई करनी चाहिए, नहीं तो वहाँ हालात विस्फोटक हो जाएँगे।

गौरतलब है कि मालपुरा में हिंदू परिवारों के पलायन का मुद्दा भाजपा पहले भी उठा चुकी है। स्थानीय लोगों ने प्रदर्शन किया तो उसके बाद भाजपा के वरिष्ठ नेताओं की एक टीम मालपुरा का दौरा कर के आई थी। राजस्थान बीजेपी के अध्यक्ष सतीश पुनिया ने कहा था कि मालपुरा के लोगों ने अपने घरों के बाहर पोस्टर लगाए हैं ताकि वो इस मुद्दे को हाईलाइट कर सकें। राजस्थान के टोंक जिले के मालपुरा कस्बे में एक बार फिर हिंदू परिवार अपने मकान और दुकान बेचने को मजबूर हैं। मुस्लिम बहुल इलाके में रहने वाले हिंदुओं ने घरों के बाहर ‘पलायन’ का पोस्टर लगा कर अपना जीवन खतरे में बताया। इस बाबत पीएम मोदी और सीएम गहलोत को पत्र भी लिखे गए हैं जिसमें बताया गया है कि असुरक्षा के कारण मजबूरी में इलाके के हिंदुओं को पलायन करना पड़ रहा है।

इसके बाद अलवर के भाजपा सांसद बाबा बालकनाथ ने भिवाड़ी, बहरोड़, नीमराना और बानसूर में मुस्लिम समुदाय के अत्याचारों के मुद्दे को उठाया है। इनके अनुसार इन इलाकों से हिंदू पलायन के लिए मजबूर हो रहे हैं। साथ ही उद्योगपति लोग परेशान होकर अपनी फैक्ट्री/इकाइयाँ बंद कर रहे हैं। सांसद बाबा बालकनाथ ने आरोप लगाया कि पुलिस और स्थानीय कॉन्ग्रेस नेता बदमाशों को संरक्षण देते हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री से इस्तीफा देने की माँग भी रखी। उनका तर्क था कि मुख्यमंत्री के पास गृह विभाग होने के कारण यह नैतिक जिम्मेदारी बनती है।

By Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published.