अफगानिस्तान के हेरात प्रांत में तालिबान और हथियारबंद लोगों के समूह के बीच संघर्ष में 17 लोग मारे गए. समाचार एजेंसी स्पुतनिक ने सोमवार को एक स्थानीय अस्पताल का हवाला देते हुए बताया कि पश्चिमी अफगान प्रांत हेरात में तालिबान लड़ाकों और हथियारबंद लोगों के एक समूह के बीच संघर्ष में सत्रह लोग मारे गए. सूत्रों ने बताया, “आज सात बच्चों, तीन महिलाओं और सात पुरुषों सहित 17 लोगों के शवों को हेरात प्रांत के एक अस्पताल में ले जाया गया. उन सभी की मौत गोली लगने से हुई.”

अफगान अधिकारियों के अनुसार, तालिबान ने अपहरण में शामिल स्थानीय अपराधियों के खिलाफ रविवार को हेरात में एक विशेष अभियान चलाया था, जिसमें कम से कम तीन अपराधी मारे गए. 15 अगस्त को राजधानी काबुल पर कब्जा करने के बाद तालिबान अफगानिस्तान में सत्ता में आया. जिसके कारण पिछली सरकार गिर गई और बड़ी संख्या में विदेशी श्रमिकों और अफगान सहयोगियों ने देश छोड़ना शुरू कर दिया.

तीन अपहरणकर्ताओं को ऑपरेशन के दौरान मार गिराया


रविवार को हुई ये झड़प करीब तीन घंटे तक चली. गृह मंत्रालय के प्रवक्ता कारी सईद खोस्ती ने आरोप लगाया कि पुलिस ने एक घर में छिपे तीन अपहरणकर्ताओं को ऑपरेशन के दौरान मार गिराया गया. हालांकि, एक प्रांतीय तालिबान प्रवक्ता ने इस बारे में अलग जानकारी दी. शुरुआत में, कुछ स्थानीय मीडिया ने बताया कि तालिबान बलों ने तालिबान से अलग हुए एक समूह पर छापा मारा था जो हाल ही में इस्लामिक स्टेट (IS) में शामिल हो गए थे. 2015 में अफगानिस्तान में IS के उभरने के बाद से दोनों चरमपंथी समूह एक-दूसरे से लड़ रहे हैं

Leave a Reply