सूडान में सेना ने तख्तापलट कर दिया है और सेना के सबसे प्रमुख जनरल ने देश में आपातकाल की घोषणा कर दी है.तख्तापलट के बाद बड़ी संख्‍या में लोगों ने सड़कों पर विरोध प्रदर्शन किया. विरोध बढ़ता देख सुरक्षा बलों ने प्रदर्शनकारियों पर गोलीबारी की जिसमें सात लोगों की मौत हो गई है. जानकारी के मुताबिक 130 लोग घायल हो गए हैं.

टेलीविजन पर दिए संबोधन में सूडानी सेना के जनरल अब्देल-फताह बुरहान ने घोषणा की है कि देश की सत्तारूढ़ संप्रभु परिषद को भंग किया जा रहा है. साथ ही प्रधानमंत्री अब्दल्ला हमदोक के नेतृत्व वाली सरकार को भी खत्म कर दिया गया है. उन्होंने कहा कि राजनीतिक धड़ों में झगड़ों को देखते हुए सेना ने सत्ता की कमान अपने हाथ में ले ली है. उन्होंने कहा कि वह शपथ लेते हैं कि लोकतांत्रिक सरकार के बदलाव की प्रक्रिया को हम पूरा कराएंगे. चुनाव होने तक उनकी एक नई टेक्नोक्रेट सरकार रहेगी.

दो साल ही रहा लोकतंत्र

सूडान में तख्तापलट इस देश के लिए एक बहुत बड़ा झटका है. ब्रिटिश शासन से 1956 में आजादी मिलने के बाद करीब आठ बार तख्तापलट हो चुका है. सिर्फ दो साल पहले वर्ष 2019 में यह देश लंबे समय तक शासक रहे ओमर-अल-बशीर को जनता ने विरोध-प्रदर्शन कर हटाया था और सूडान में लोकतंत्र की स्थापना हुई थी. लेकिन अब महज यह दो साल के बाद ही फिर से सैन्य शासन के शिकंजे में जा चुका है. 75 वर्षीय सैन्य शासक ओमर-अल-बशीर को तब जनता ने आर्थिक दुगर्ति के कारण सत्ता से हटवाया था.

सूडान के सूचना मंत्रालय, जो अभी भी अपदस्थ प्रधान मंत्री अब्दुल्ला हमदोक के प्रति वफादार है ने अपने फेसबुक पेज पर कहा कि संक्रमणकालीन संविधान केवल प्रधान मंत्री को आपातकाल की स्थिति घोषित करने का अधिकार देता है और सेना की कार्रवाई एक अपराध है. हमदोक अभी भी वैध संक्रमणकालीन प्राधिकरण है.

संयुक्त राष्ट्र और अमेरिका ने जताई नाराजगी

दूसरी ओर सूडान में मौजूद संयुक्त राष्ट्र अभियान ने तख्तापलट पर अपनी नाराजगी जताई है. साथ ही लोकतांत्रिक प्रणालियों को कमजोर किए जाने भी आपत्ति भी जताई है. इसके अलावा, यूरोपीय संघ ने अमेरिका के साथ मिलकर सूडान में हुए तख्तापलट पर चिंता जताई है. यूरोपीय संघ के विदेश मामलों के प्रमुख जोसेफ बोरेल ने ट्वीट करके कहा कि उत्तर पूर्वी अफ्रीकी देश मौजूदा हालात से बेहद चिंतित है. वहीं, अफ्रीका में अमेरिकी में दूत जेफरी फेल्टमैन ने कहा कि सरकार के स्वरूप में कोई भी बदलाव होने पर वह नजर रखेंगे.

Leave a Reply