फोन पे यूजर्स को अब मोबाइल रिचार्ज करने पर प्रोसेसिंग फीस देनी होगी। वॉलमार्ट समूह की डिजिटल पेमेंट कंपनी फोनपे ने UPI (यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस) ट्रांजैक्शन पर यह नियम लागू किया है। यूजर्स को प्रति ट्रांजैक्शन 50 रुपए से 100 रुपए के रिचार्ज पर 1 रुपए और 100 रुपए से ज्यादा के रिचार्ज पर 2 रुपए देने होंगे। इस तरह फोनपे UPI आधारित ट्रांजैक्शन पर चार्ज लेने वाली पहली डिजिटल पेमेंट ऐप बन गई है।

पहले से इंडस्ट्री में वसूले जा रहे चार्ज

कंपनी के प्रवक्ता ने बिल पेमेंट पर लगने वाले चार्ज को लेकर कहा कि हम इंडस्ट्री में ऐसा करने वाले पहले नहीं हैं। सभी डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म्स बिल पेमेंट्स को लेकर चार्ज वसूल रहे हैं। अब यह स्टैंडर्ड प्रैक्टिस हो गया है। अगर किसी बिल का भुगतान क्रेडिट कार्ड की मदद से किया जाता है तो हम इसके लिए प्रोसेसिंग फीस लेते हैं। दूसरे प्लेटफॉर्म पर इसे कन्वीनिएंस फीस के रूप में लिया जाता है।

सबसे ज्यादा मार्केट शेयर

थर्ड पार्टी के तौर पर ऐप में UPI ट्रांजैक्शन के मामले में फोनपे की सबसे बड़ी हिस्सेदारी है। कंपनी के प्लेटफॉर्म पर सितंबर में 165 करोड़ से ज्यादा UPI ट्रांजैक्शन हुए थे। इससे ऐप सेगमेंट में इसका मार्केट शेयर करीब 40% हो गया है।

इंश्योरेंस भी बेचने की तैयारी

फोनपे को लाइफ इंश्योरेंस और जनरल इंश्योरेंस प्रोडक्ट को बेचने की इंश्योरेंस रेगुलेटर (IRDAI) से अप्रूवल भी मिल गया है। कंपनी अब आने वाले समय में अपने 30 करोड़ से ज्यादा यूजर्स को इंश्योरेंस से रिलेटेड सलाह दे सकती है।

Leave a Reply