कांग्रेसी नेता और पत्नी की गला घोट कर आधी रात में हत्या, पहुंची पुलिस

CHATTISGARH CRIME

रायगढ़। छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले के लैलूंगा में वरिष्ठ कांग्रेसी नेता मदन मित्तल के साथ उनकी पत्नी अंजू देवी की गला घोंटकर हत्या कर दी गए है| सूचना मिलने पर पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचकर जांच में जुट गए हैं| घटना को बीती रात लगभग 12 से 1 बजे के बीच अंजाम दिया गया है| घटना की सूचना पर पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा के साथ पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे हैं| इसके साथ ही जांच के लिए रायगढ़ से डॉग स्कॉड के साथ एफएसएल की टीम रवाना हो गई है|

दोनों की लाशें 23 सितंबर की सुबह ही घर पर ही पड़ी मिलीं। बताया गया कि दोनों को गला घोंटकर मौत के घाट उतारा गया है। दो दिन पहले ही मदन का मोबाइल भी घर से चोरी हुआ था। इसकी शिकायत भी थाने में दर्ज कराई गई थी। मामला लैलूंगा थाना क्षेत्र का है।

लैलूंगा में रहने वाले मदन मित्तल (55 वर्षीय) 22 सितंबर के रात 10 बजे तक शहर में अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर दुर्गा पूजा का चंदा इंकट्‌ठा कर रहे थे। घर वालों ने बताया कि मदन रात को करीब 10.30 बजे पहुंचे थे। इसके बाद उनकी बहू ऋचा ने उन्हें खाना खिलाया था। खाने खिलाने के बाद ऋचा रात 11 बजे ऊपर अपने कमरे में चली गई थी। रात को सभी अपने कमरे में सो गए थे। घटना से पूरे लैलूंगा में शोक की लहर फैल गई है| घटना की जानकारी मिलने पर लैलूंगा विधायक चक्रधर सिदार भी मौके पर पहुंच गए हैं| इसके साथ ही अग्रवाल समाज ने घटना को देखते हुए श्री अग्रसेन जयंती के सारे कार्यक्रम रद्द कर दिए हैं|

कमरे में थी दोनों की लाश

मिली जानकारी में, सुबह जब ऋचा और उसका पति रोहित सोकर उठे और नीचे वाले कमरे में गए तो मदन और उनकी पत्नी की लाश बिस्तर में ही पड़ी हुई थी। इसके बाद इस बात की सूचना लैलूंगा पुलिस को दी गई है। लैलूंगा पुलिस की टीम मौके पर पहुंच गई है। वहीं मौके पर डॉग स्क्वायड की टीम को भी बुलाया गया है। जानकारी मुताबिक, पुलिस ने बताया है कि अभी यह पता नहीं चल सका है कि किन आरोपियों ने वारदात को अंजाम दिया है। हम मामले की जांच में जुटे हुए हैं। पुलिस ने बताया है कि आरोपी घर के पीछे के दरवाजे के ऊपर लगे छोटी खिड़की को तोड़कर अंदर घुसे थे। इसके बाद वारदात को देर रात को ही् अंजाम दिया गया है।

हाल में ही मदन को बनाया गया था एल्डरमैन

लैलूंगा क्षेत्र में मदन मित्तल कांग्रेस के सीनियर नेताओं में से थे। उनकी इस क्षेत्र में जमीनी स्तर पर काफी अच्छी पकड़ थी। यही वजह है कि कांग्रेस ने उन्हें हाल में ही एल्डरमैन बनाया था। मदन ने 8 सितंबर को ही एल्डरमैन पद की शपथ ली थी। मदन कांग्रेस नेता के अलावा शहर के अग्रवाल समाज के पूर्व अध्यक्ष भी रहे चुके हैं। इसके अलावा वो शहर में ही राइस मिल चलाया करते थे।

Leave a Reply