छत्तीसगढ़ की शिक्षा व्यवस्था पर फिर उठे सवाल, जिला सीईओ ने कहा – ये कोई अस्तबल नहीं, यहां देश के गढ़े जाते हैं भविष्य

CHATTISGARH EDUCATION

गरियाबंद। छत्तीसगढ़ के देवभोग जिले के दौरे पर जिला मुख्य कार्यपालन अधिकारी संदीप अग्रवाल पहुंचे तो थे सामाजिक कार्यक्रम में हिस्सा लेने, लेकिन मुख्यालय के हायर सेकंडरी स्कूल का निरिक्षण करने पहुंच गए| ज्ञान मंदिर की स्थिति देख सीईओ का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया| हायर सेकेंडरी स्कूल में फैली अव्यवस्था और शौचालय की गंदगी देखकर सीईओ प्रिंसिपल और बीईओ पर बिफर उठे| उन्हें नसीहत देते हुए कहा कि इस व्यवस्था को सुधारने के लिए जल्द प्रपोजल बनाएं, फंड की व्यवस्था करते हैं|

बता दें, हाई स्कूल और हायर सेकेंडरी के 546 छात्र एक ही कैंपस में पढ़ाई करते हैं| सीईओ जब कैंपस पहुंचे तो बरामदे और कमरों में गंदगी फैली दिखी, स्टाफ का सिटिंग अरेंजमेंट हो या उपयोगी सामग्री रखने का स्थान व्यवस्थित नहीं मिली| स्कूल के अधिकांश कमरे जर्जर नजर आए. जहां स्टाफ और तीन क्लास लगती हैं|

जब शौचालय पर नजर पड़ी तो सीईओ संदीप अग्रवाल का गुस्सा सातवें आसमान पर था| पसरी गन्दगी को देखकर सीईओ को कहना पड़ा कि यह स्थान कोई अस्तबल नहीं है, यंहा देश के भविष्य पढ़ने और गढ़ने आते हैं| सीईओ ने प्रिंसपल नेपाल यदु को जमकर फटकार लगाई| बीईओ पर भी नाराजगी जाहिर की|

इसके अलावा ब्लॉक मुख्यालय में मौजूद स्कूल की दुर्दशा पर अफ़सोस जाहिर करते दिखे| सीईओ ने छात्रों की संख्या के अनुपात शौचालय को नाकाफी बताते हुए नए शौचालय के लिए जिला पंचायत प्रस्ताव भेजने कहा| जर्जर भवन पर भी चिंता जाहिर करते हुए इसकी दुर्दशा से कलेक्टर को अवगत कराकर उचित कदम उठाने की बात भी कही है|

सीईओ सन्दीप अग्रवाल ने कहा कि स्वास्थ्यगत कारणों को ध्यान में रखते हुए सभी स्कूलों को शौचालय साफ सुथरा रखने कहा जा रहा है| फंड की व्यवस्था कर इस स्कूल में शौचालय जल्द बनाया जाएगा| बीईओ को प्रॉपर मॉनिटरिंग के निर्देश दिए है|

Leave a Reply