रायपुर| छत्तीसगढ़ में 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा की बिगड़ी हालत सुधारने के लिए RSS ने तैयारी शुरू कर दी है। यही वजह है कि संघ प्रमुख के निर्देश पर मदकूद्वीप में बड़ा आयोजन रखा गया है। नवंबर में तीन दिवसीय घोष वर्ग प्रशिक्षण शिविर और कार्यकर्ता सम्मेलन किया जा रहा है। इसमें सरसंघ चालक मोहन भागवत भी शिरकत करेंगे।

भाजपा के केंद्रीय और प्रदेश नेतृत्व मिशन 2023 की रणनीति बनाकर काम कर रहे हैं। इसके लिए युवाओं को जोड़ने के लिए एक बूथ 20 यूथ की तर्ज पर जिला, मंडल, बूथ और शक्ति केंद्रों में युवा कार्यकर्ता तैयार किए जा रहे हैं। वहीं, भाजपा के सभी अनुषांगिक संगठन भी विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटे हुए हैं। इन सबसे अलग राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पर्दे के पीछे से प्रदेश में भाजपा की स्थिति पर निगरानी रख रही है। इस बीच संघ के पदाधिकारियों के निर्देश पर संघ के स्वयंसेवक से लेकर पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं से राय भी ली गई है।

यही वजह है कि संघ के वरिष्ठ से लेकर नवयुवक स्वयं सेवकों के लिए वृहद आयोजन की रूपरेखा तैयार की गई है। इसके तहत मदकूद्वीप में तीन दिवसीय घोष वर्ग प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जा रहा है। इसमें आयोजन के समापन में संघ प्रमुख मोहन भागवत शामिल होंगे। इस आयोजन की तैयारी को लेकर शनिवार को मदकूद्वीप में संघ पदाधिकारियों की बैठक हुई।

बैठक में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, सांसद अरूण साव, प्रदेश महामंत्री अरूण साव, बेलतरा विधायक रजनीश सिंह, मस्तूरी विधायक डॉ. कृष्णमूर्ति बांधी, महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष हर्षिता पांडेय के साथ ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पदाधिकारी मौजूद रहे। सांसद अरूण साव और आरएसएस के सहविभाग संचालक डॉ. विनोद तिवारी ने बताया कि संघ के प्रशिक्षण शिविर में संघ प्रमुख मोहन भागवत के आने का प्रस्ताव है। इस आयोजन की तैयारी को लेकर बैठक बुलाई गई थी।

चार जिलों की सीमा से लगा है मदकूद्वीप

इस आयोजन को लेकर संघ के सहयोगी संगठनों के साथ ही भाजपा और उनके अपने सहयोगी संगठनों में भी सियासी सक्रियता बढ़ गई है। दरअसल, संघ प्रमुख पहली बार मदकूद्वीप आ रहे हैं। संघ पदाधिकारियों का कहना है कि मदकूद्वीप चार जिलों की सीमा के बीच है। लिहाजा, बिलासपुर के साथ ही मुंगेली, बेमेतरा और भाटापारा, बलौदाबाजार जिले के साथ बिलासपुर संभाग के पदाधिकारी शामिल होंगे।

आवासीय होगा आयोजन

संघ पदाधिकरियों के अनुसार 17 नवंबर से आयोजित यह प्रशिक्षण शिवर आवासीय होगा। यहां स्वयंसेवक और पदाधिकारियों के रहने और भोजन की भी व्यवस्था की जाएगी। प्रशिक्षण शिविर में संघ के सौ से भी ज्यादा सेवक भाग लेंगे। इस आयोजन के अंतिम दिन कार्यकर्ता सम्मेलन होगा, जिसमें संघ प्रमुख शामिल होंगे। समापन के मौके पर आयोजित सम्मेलन में स्वयंसेवक के साथ ही भाजपा नेता, पदाधिकारी और कार्यकर्ता शामिल होंगे।

Leave a Reply