फिल्म निर्देशक प्रकाश झा की वेब सीरीज ‘आश्रम’ को लेकर साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर भड़क गई हैं. बीजेपी सांसद इस सीरीज से इतनी नाराज हैं कि उन्होंने फिल्मों और वेब सीरीज की रिलीज के लिए संतों की परमिशन लेने की बात कह दी है. मजाक नहीं कर रहे हैं. प्रज्ञा ठाकुर ने वाकई में ऐसा कहा है. उन्होंने भोपाल में बन रही वेब सीरीज़ ‘आश्रम’ के विरोध के चलते ये बात कही है. सोशल मीडिया पर उनके बयान की बहुत आलोचना हो रही है.

क्या बोलीं प्रज्ञा ठाकुर?

BJP सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कहा है कि साधु-संत अब खुद का डिपार्टमेंट यानी एक तरह का सेंसर बोर्ड बनाएंगे. कोई भी फिल्म या सीरीज़ रिलीज़ होने से पहले यहां देखी जाएगी. उसके बाद ही रिलीज़ की जाएगी. भोपाल से बीजेपी सांसद ने आरोप लगाया है कि आए दिन फिल्म और वेब सीरीज़ हिंदू भावनाओं को ठेस पहुंचाती रहती हैं. News24 से बातचीत में साध्वी प्रज्ञा ने कहा.

“मैं एक ही बात कहती हूं कि साधु-संत कभी पिक्चर नहीं देखते. हमें अब एक डिपार्टमेंट बनाना पड़ेगा. भारत भक्ति अखाड़ा एक डिपार्टमेंट बनएगा. कोई भी पिक्चर रिलीज़ होने के पहले वहां देखी जाएगी. ये काम पूरे क़ानूनी विधान मंडल के ज़रिए किया जाएगा. नहीं तो मैं सेंसर बोर्ड के खिलाफ कार्रवाई करूंगा. मैं इस बारे में सीएम को पत्र लिखूंगी.”

स्क्रिप्ट पढ़कर देंगे अप्रूवल

साध्वी प्रज्ञा सिंह ने कहा कि हम फ़िल्म की पहले स्क्रिप्ट पढ़ेंगे फिर उसे बनाने की परमिशन देंगे. न्यूज चैनल से उन्होंने कहा,

“हम पहले पिक्चर की स्क्रिप्ट पढ़ेंगे, फिर उसे बनने की परमिशन देंगे. वरना फ़िल्म बनने ही नहीं देंगे. अगर सेंसर बोर्ड ऐसी कोई फ़िल्म पास करता है जो हिंदू भावनाओं को ठेस पहुंचाती हो तो मैं सेंसर बोर्ड में बैठे लोगों के ऊपर कार्रवाई करूंगी.”

क्यों दिया ये बयान?

भोपाल में वेब सीरीज़ ‘आश्रम’ के तीसरे सीज़न की शूटिंग चल रही है. इस सीरीज़ पर हिंदू धर्म के खिलाफ भ्रान्ति फ़ैलाने और हिंदू समाज की भावनाओं को आहत करने के आरोप लगे हैं. हाल में इसका विरोध डायरेक्टर प्रकाश झा को झेलना पड़ा. रविवार 24 अक्टूबर को शूटिंग के दौरान कुछ बजरंगदल के लोग भी शूटिंग स्थल पर पहुंचे थे. वहां उन्होंने जमकर तोड़फोड़ की. उस समय सेट पर प्रकाश झा भी मौजूद थे. बजरंगदल के कार्यकर्ताओं ने उन पर स्याही फेंकी. इसके कुछ देर में मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का बयान आ गया. उन्होंने तो सीरीज़ का नाम तक बदलने की नसीहत दे डाली.

ऐसा क्या है सीरीज़ में?

‘आश्रम’ सीरीज़ एक ऐसे धर्म गुरु (बाबा) पर बनी है, जो लोगों का शोषण करता है. इस सीरीज़ के लीड एक्टर बॉबी देओल हैं जो बाबा का रोल करते हैं. लोगों का आरोप है कि ‘आश्रम’ में धर्म गुरुओं और संतों की गलत छवि पेश की जा रही है. उन्हें सीरीज़ के नाम पर भी आपत्ति है. बजरंगदल के कार्यकर्ताओं ने सीरीज़ का नाम बदलने की बात भी कही है.

बजरंगदल के प्रांत संयोजक सुशील सुदेले ने आजतक से बातचीत में कहा था कि प्रकाश झा को सीरीज़ का नाम बदलना पड़ेगा. अगर ऐसा नहीं किया गया तो शूटिंग नहीं होने दी जाएगी. इतना ही नहीं, सीरीज़ को रिलीज भी नहीं होने दिया जाएगा. हालांकि सुशील का ये भी कहना है कि प्रकाश झा ने नाम बदलने का वादा किया है.

Leave a Reply