काश ऐसा मुमकिन होता की बचपन के उन दिनों में चले जाते, जब हम खुद मे खुशी ढूंढ लेते थे| आज महसूस होता है कि 90 का दशक की बात ही कुछ और थी| उस दौर में कुछ चीज़े ऐसी हैं जिन्हे आज की इंटरनेट से भरी दुनिया हमसे नहीं दूर कर सकती| लोगों का ‘बजाज स्कूटर’ से लेकर ‘बिनाका टूथपेस्ट’ जैसे ब्रांड हमारी पहली पसंद हुआ करते थे|

1990 में भारत के हर घर में मशहूर रहे यह कुछ ब्रांड्

1- बिनाका टूथपेस्ट

सन 1950 में ‘बिनाका टूथपेस्ट’ लॉन्च हुआ था| 1970 तक ये देश का नंबर वन ब्रांड बन गया था| 80 के दशक में रेडियो पर ‘बिनाका गीतमाला’ नाम का एक लोकप्रिय कार्यक्रम प्रसारित होता था| इसके बाद 1996 में ‘बिनका’ को ‘डाबर’ द्वारा अधिग्रहित कर लिया गया|

2- HMT

7 फ़रवरी, 1953 को केंद्र सरकार द्वारा ‘हिंदुस्तान मशीन टूल्स’ स्थापित की गई थी| HMT अपनी गुणवत्ता, सादगी और विश्वसनीयता के कारण 5 दशकों तक घड़ियों के लिए भारत का नंबर 1 ब्रांड बना रहा| एक वो दौर भी था जब हर हिन्दुस्तानी के हाथ पर HMT की घड़ी होती थी और आज वो दौर है जब HMT के लगभग सभी कारखाने बंद हो चुके हैं|

3- पान पराग

‘पान पराग’ पहले और आज भी देश का एक प्रतिष्ठित पान मसाला ब्रांड है| पान पराग ने 1980 के दशक में छोटी-छोटी पाउच में पान मसाला बेचना शुरू किया था| आज यह देश का अग्रणी पान मासाला ब्रांड बन चुका है|

4- चारमीनार सिगरेट

1970 के दशक में ‘चारमीनार सिगरेट’ काफ़ी लोकप्रिय थी| 70 और 80 के दशक में ये ब्रांड आकर्षक पैकेजिंग, क्लासिक टैग-लाइन्स और विज्ञापनों के ज़रिए लोगों के बीच एक नई क्रांति लाया था|

5- डाबर आमला

‘डाबर’ शुद्ध भारतीय ब्रांड है जिसकी स्थापना 1884 में हुई थी| आज भी यह भारतीयों के लिए सबसे विश्वसनीय ब्रांड है| डाबर आंवला हेयर ऑयल को 1940 में लॉन्च किया गया था| तब से लेकर अब तक ये हेयर ऑयल भारतीय बाज़ार में नंबर 1 बना हुआ है|

6- निरमा

भारत में निर्मित ब्रांड ‘निरमा’ वाशिंग पाउडर के लिए बहुत प्रसिद्ध है| इसकी स्थापना 1990 में हुई थी| यह भारतीय ब्रांड आज भी वाशिंग पाउडर और डिटर्जेंट के क्षेत्र में बहु-राष्ट्रीय कंपनियों को कड़ी टक्कर दे रहा है| यह भारत का पहला वाशिंग पाउडर ब्रांड है|

7- पॉप्पीन्स

90’s के बच्चे Poppins को अच्छी तरह से जानते हैं| यह पारले के स्वामित्व वाला एक ब्रांड है जिसे 1950 में लॉन्च किया गया था| पिछले 70 सालों से ये आज भी आस पड़ोस के स्टोर पर मिल जायेगा|

8- डालडा

‘हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड’ के स्वामित्व वाली ‘डालडा’ की स्थापना 1930 में हुई थी, जो वनस्पती घी बेचता है| पिछले 90 सालों से डालडा दक्षिण एशियाई देशों में बड़े पैमाने पर लोकप्रिय है. साल 2003 में ‘Bunge Limited’ ने डालडा को ‘हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड’ से ख़रीद लिया था.

9- उषा

सिलाई मशीन निर्माता कंपनी ‘उषा’ की स्थापना साल 1934 में हुई थी| उषा कंपनी भारत में सिलाई मशीन, लोहे के बक्से, कुकर, पंखे बनाने के लिए मशहूर है| 80 से अधिक वर्षों से ये आज भी भारतीयों का मनपसंद ब्रांड बना हुआ है|

10- बाटा

मशहूर जूता निर्माता कंपनी ‘बाटा’ की स्थापना 24 अगस्त,1894 को Czechia में हुई थी. बाटा ने 1931 में भारत में प्रवेश किया. कुछ ही साल बाद ये भारतीय ग्राहकों के बीच मज़बूत और टिकाऊ ब्रांड के रूप में प्रसिद्ध हो गया. बाटा की सबसे बड़ी विशेषता है कम क़ीमतमें अच्छी क्वालिटी की जूते देना.

11- कैडबरी जैम्स

‘कैडबरी’ की शुरुआत 1824 में बर्मिंघम (यूके) में हुए थी. चॉकलेट के अलावा 1960 के बाद कैडबरी ने बच्चों के लिए शुगर कोटेड रंग बिरंगी चॉकलेट बनाने की शुरुआत की थी| छोटे-छोटे पाउच में आने वाली ये रंग बिरंगी चॉकलेट आज बच्चों के बीच ‘कैडबरी जैम्स’ के नाम से मशहूर है|

यह 90 के दशक के पॉपुलर ब्रांड की एक छोटी सी झलक थी, जिन्होंने कई दशकों तक भारतीय बाज़ार पर राज किया| इनके अलावा भी नटराज, हॉर्लिक्स, लक्स, लिरिल, पॉन्ड्स, अमूल, रिन, टाइड, एनासिन, प्रेस्टीज, मिल्की बार, प्रिस्टेंट टूथपेस्ट, सिंथोल, वाडीलाल, जैसे कई ब्रांड काफ़ी पॉपुलर हुए थे|

By Desk

Leave a Reply Cancel reply