जयपुर के निजी स्कूल की छात्रा को अश्लील मैसेज भेजने वाले टीचर को सेंट जेवियर्स ने किया ससपेंड, बाल आयोग ने मांगी रिपोर्ट

EDUCATION NATIONAL STATE

जयपुर के सेंट जेवियर्स स्कूल की पूर्व छात्राओं को अश्लील मैसेज भेजने के मामले में आरोपित शिक्षक निखिल जोस को स्कूल प्रबंधन ने सस्पेंड कर दिया है। वहीं राज्य बाल अधिकार आयोग ने 7 दिन के भीतर पूरे मामले की जाँच कर प्रोग्रेस रिपोर्ट देने का नोटिस जारी किया है। मामले में स्कूल प्रबंधन की तरफ से एक तीन सदस्यीय फैक्ट फाइंडिंग कमेटी का गठन किया गया है। इसमें दो महिला सदस्य हैं।

समिति अपनी रिपोर्ट जल्दी ही देगी जिससे आरोपित शिक्षक निखिल जोस के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई की जा सके। स्कूल प्रबंधन ने जाँच रिपोर्ट आने तक आरोपित शिक्षक को निलंबित कर दिया है। प्रबंधन ने यह भी कहा है कि सोशल मीडिया में प्रसारित इस तरह की किसी भी घटना में स्कूल प्रबंधन की कोई भूमिका नहीं है। मामले में यह भी सामने आया है कि आरोपित 6 महीने से छात्राओं को अश्लील मैसेज भेज रहा था।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक निखिल जोस को राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी सम्मानित कर चुके हैं। इस संबंध में एक पत्र वायरल हुआ है। इसमें मुख्यमंत्री गहलोत ने उसके कामों की प्रशंसा करते नजर आ रहे हैं। आरोपित शिक्षक की सीएम के साथ फोटो भी सामने आई है।

उल्लेखनीय है कि आरोपित शिक्षक छात्राओं को अश्लील मैसेज भेजता था और उन्हें होटल में शराब पार्टी के लिए बुलाता था। शुरुआत में लड़कियों ने इग्नोर किया, लेकिन आरोपित की अश्लीलता बढ़ी तो छात्राओं ने एकजुट होकर सोशल मीडिया पर कैम्पेन चला दिया। फिलहाल, पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। उसके मोबाइल में कई अश्लील मैसेज भेजने के सबूत मिले हैं।

Leave a Reply