रायपुर| राजधानी के सदर बाजार में एक बड़ा हादसा टल गया। बता दें कि रायपुर के सदर बाजार स्थित क़ानूगा ज्वेलर्स बिल्डिंग सामने रोड की तरफ गिर गई। बताया जा रहा है कि यह बिल्डिंग बीते 1 साल में दूसरी बार गिरी है। बिल्डिंग गिरने की घटना से कोई हताहत नहीं हुई है। घटना स्थल पर मौजूद पूर्व पार्षद सतीश जैन ने बताया, इस बिल्डिंग का पिछला हिस्सा भी एक बार गिर चुका है। वहीं जो बिल्डिंग गिरी है उसके बाजू में एक नई बिल्डिंग का निर्माण हो रहा है| सूत्रों के अनुसार बाजू में शैली ज्वेलर्स की नई बिल्डिंग निर्माण और पुरानी बिल्डिंग ढहाने के कारण यह हादसा हुआ। सुंदर नगर पार्षद मृत्युंजय दुबे मौके पर मौजूद थे उन्होंने सबसे पहले नगर निगम को सूचित किया था| MIRRORBUZZ से बात करते हुए उन्होंने कहा – यह नगर निगम कि एक बड़ी लापरवाही है, ऐसे कई सारी जर्जर बिल्डिंग्स है जिनके नोटिस नगर निगम को भेजे गए थे
लेकिन निगम उन्हें हटाने की कार्यवाई नहीं करती है”| दुर्गा विसर्जन का माहौल है अचानक ऐसे जर्जर बिल्डिंग गिरने से हानि हो सकती है|
वर्तमान सदर बाजार वार्ड के पार्षद पति मुकेश कंदोई ने कहा कि यह सुरक्षित तो नहीं है, एक जर्जर बिल्डिंग के गिर जाने में नगम भी जिम्मेदार है| जब जर्जर इमारतों का सर्वे किया जाता है तो यह छूट गया था यह पता नही| अब जो हो गया वह हो गया|

सुंदर नगर पार्षद मृत्युंजय दुबे मौके पर मौजूद थे उन्होंने सबसे पहले नगर निगम को सूचित किया था| MIRRORBUZZ से बात करते हुए उन्होंने कहा – यह नगर निगम कि एक बड़ी लापरवाही है, ऐसे कई सारी जर्जर बिल्डिंग्स है जिनके नोटिस नगर निगम को भेजे गए थे लेकिन निगम उन्हें हटाने की कार्यवाई नहीं करती है”| दुर्गा विसर्जन का माहौल है अचानक ऐसे जर्जर बिल्डिंग गिरने से हानि हो सकती है|

वर्तमान सदर बाजार वार्ड के पार्षद पति मुकेश कंदोई ने कहा कि यह सुरक्षित तो नहीं है, एक जर्जर बिल्डिंग के गिर जाने में नगम भी जिम्मेदार है| जब जर्जर इमारतों का सर्वे किया जाता है तो यह छूट गया था यह पता नही| अब जो हो गया वह हो गया|

बिल्डिंग का जो हिस्सा गिरा है, वहां 5-7 लोगों का परिवार रहता था। 15 अक्टूबर को दशहरा था, इसलिए पूरा परिवार गांव गया हुआ है। इसलिए बड़ा हादसा होते-होते तल गया।

मौके पर समाचार प्रकाशन तक नगर निगम का कोई अधिकारी नही पहुंचा था, सिर्फ पुलिसकर्मी हालात को काबू बनाये हुए हैं।

Leave a Reply