कवर्धा। प्रदेश के कबीरधाम जिले के कवर्धा में 4 अक्टूबर को घटी हिंदू विरोधी घटना के बाद निकाला गया शांति मार्च| हिन्दुओं और मुस्लिमों दोनों पक्षों के बीच विवाद से प्रशासन को धारा 144 भी लागू करनी पड़ी थी| ऐसे में सभी धर्म प्रमुखों और प्रशासनिक अधिकारियों ने कवर्धा शहर में शांति मार्च निकालकर शांति और अमन की अपील करने की कोशिश की हैं|

प्रशासन लगातार जल्द ही हालात को पूर्ण तरीके से काबू में लाने की कोशिश में लगी हुई है| इस कड़ी में प्रशासन ने 8 अक्टूबर को शांति समिति की बैठक ली, जिसमें सभी धर्म प्रमुखों ने निर्णय लिया कि शहर में जल्द शांति कायम करने के लिए शांति मार्च निकालने का निर्णय लिया गया था|

शांति मार्च शहर के प्रमुख मार्गो मोहल्लों से गुजरी| इस दौरान सभी वर्गों ने शांति मार्च के दौरान बारी-बारी से शहर वासियों से शहर में शांति अमन के लिए अपील की, साथ ही किसी के भड़कावे में ना आने शहर में भाईचारे और आपसी सद्भाव के साथ रहने की सभी वर्गों ने अपील की| इस शांति मार्च में सभी वर्गों और समाज प्रमुखों ने बढ़ा-चढ़कर हिस्सा लिया|

शांति मार्च के बाद सभी वर्गों का विश्वास है कि अब शहर में पहले की तरह अमन शांति आपसी भाईचारा की स्थिति निर्मित होगी और जल्द ही स्थिति बेहतर हो जाएगी| इस शांति मार्च के बाद लगता है कि शहर में जल्द ही अमन शांति का वातावरण होगा हालात सुधर जाएंगे और नगर में लगाई गई कर्फ्यू जल्दी समाप्त हो जाएगी|

By Desk

Leave a Reply Cancel reply