हिंदुत्व विरोधी है राज्य सरकार: बृजमोहन, आज राजभवन जाकर करेंगे धर्मांतरण पर रोक लगाने की मांग

CHATTISGARH POLITICAL RELIGIOUS

रायपुर। छत्तीसगढ़ में धर्मांतरण के मुद्दे पर राज्य में बढ़ती सियासी नोक-झोंक के बीच भाजपा ने संकेत दे दिया है कि आने वाले चुनाव में मुद्दा हिंदुत्व का होगा। बीजेपी के दिज्जग नेता और नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने अपने आरोप में कहा है कि भूपेश सरकार हिंदुत्व विरोधी सरकार है। राज्य में सरकार धर्मांतरण से मतांतर कराना चाहती है। कौशिक ने कहा कि यहां ना तो हिंदू शांत बैठेंगे और ना ही बीजेपी शांत बैठेगी। इधर धर्मांतरण के मामले पर बीजेपी शनिवार को शांति मार्च निकाल रही है। आजाद चौक गांधी प्रतिमा से लेकर राजभवन तक बीजेपी के सांसद, विधायक, पूर्व सांसद, पूर्व विधायक समेत तमाम आला नेता मौजूद होंगे।

धर्मांतरण के मुद्दे पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय, नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक और पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने प्रेस कांफ्रेंस की। इस दौरान नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कांग्रेस सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि राज्य में स्ट्रेटजी के तहत सरकार धर्मांतरण करा रही है। गांवों में जाकर प्रार्थना करवाई जा रही है। सरकार को इसे रोकना चाहिए। उन्होंने कहा कि कोई भी जाति आज धर्मांतरण से अछूती नहीं है। धर्मांतरण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। कोंडागांव, सूरजपुर समेत राज्य के कई हिस्सों से ऐसे मामले तेजी से सामने आ रहे हैं। बस्तर में एसपी ने धर्मांतरण को लेकर जांच कमेटी बनाई। अंबिकापुर के महामाया पहाड़ पर बाहरी लोगों ने कब्जा कर लिया है, लेकिन सरकार इन मामलों की जांच क्यों नहीं करा रही। धर्म विशेष से जुड़े लोग संविधान को जलाने की बात करते हैं। क्या यह राष्ट्रद्रोह नहीं है। क्यों नहीं सरकार को ऐसे लोगों के खिलाफ राष्ट्रद्रोह का अपराध दर्ज करना चाहिए।

देश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि भूपेश सरकार जब से आई है, पूरे प्रदेश में सरकार की शह पर धर्मांतरण ज़ोरों पर है। हम सरकार से मांग करते हैं कि शह देना बंद करें। जशपुर से बस्तर तक आदिवासी इलाक़ों में गऱीबों की मजबूरी का फ़ायदा उठाकर धर्मांतरण ज़ोरों पर चल रहा है। पुरानी बस्ती थाने में धर्मांतरण की शिकायत करने वालों के खिलाफ हाई एफआईआर दर्ज कर दिया गया। सरकार नफरत की राजनीति कर रही है। पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि भूपेश बघेल के नेतृत्व में चलने वाली सरकार पूरे प्रदेश में धर्मांतरण कर रही है। सीआरपीसी और आईपीसी की धाराओं में स्पष्ट है कि यदि धर्मांतरण कराया जाता है तो यह अपराध है। रायपुर के पुरानी बस्ती थाने में पादरी आकर पुलिस वालों के सामने कहता है कि हमारा क्या बिगाड़ लोगे। शिकायत करने वालों के ख़िलाफ़ ही आपराधिक धाराएं लगाई गई। देर रात बारह बजे के बाद शासकीय कार्य में बाधा लगाने की धारायें जोड़ दी गई। क्या ये दिल्ली के इशारे पर किया गया।पूर्व मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री के पिता वर्ग विशेष पर टिप्पणी करते हैं। मानपुर मोहला में रामायण की प्रतियाँ चलाई जाती हैं। सनातन धर्म का लगातार अपमान किया जा रहा है। वर्ग विशेष के लोग आकर कहते है कि धारा 25 में उन्हें धर्म परिवर्तन कराने का अधिकार है। ऐसी टिप्पणी पर थाने में बहस के हालात बने थे, फिर एकपक्षीय मामला दर्ज क्यूं किया गया।

पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि धर्मांतरण के विरोध में शनिवार को 3 बजे आज़ाद चौक गांधी प्रतिमा के सामने से बीजेपी के सांसद, विधायक, पूर्व सांसद और पूर्व विधायक राजभवन जाकर धर्मांतरण पर रोक लगाने की मांग करेंगे। 12 सितम्बर को सभी जिलो के थानों में धर्म परिवर्तन कराने वालों के ख़िलाफ़ एफआईआर की माँग की जाएगी। 15 सितम्बर को पूरे प्रदेश में ब्लॉक स्तर पर एफआईआर किए जाने की माँग की जाएगी। हालात ऐसी ही रहे तो आने वाले दिनों में हम उग्र आंदोलन करेंगे। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में थानों में दो सौ से ज़्यादा धर्मांतरण की शिकायत हैं, जिन पर अपराध दर्ज नहीं किया गया। सरकार अपने आकाओं को खुश करने और वोट बैंक के लिए बहुसंख्यक समाज को उद्वेलित कर रही है।

किसानों के मुद्दे पर भी भाजपा करेगी प्रदेश स्तरीय आंदोलन भाजपा की संगठन बैठक में किसानों के मुद्दे पर प्रदेश स्तरीय आंदोलन करने का निर्णय लिया गया. सूखा घोषित नहीं करने के साथ खाद की कालाबाजारी को लेकर किए जाने वाले इस आंदोलन में प्रदेश भर में ब्लॉक स्तर पर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा. भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश पदाधिकारियों की 10 सितंबर को बैठक हुई| राष्ट्रीय महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय और छग प्रदेश सह प्रभारी नितिन नबीन ने बैठक को वर्चुअल संबोधित किया| इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस के अवसर पर 17 सितंबर से 7 अक्टूबर तक होने वाले सेवा ही समर्पण कार्यक्रम के लिए जिम्मेदारी सौंपी गई| नरेंद्र मोदी के सीएम और पीएम रहते हुए 20 साल पूरे करने पर 20 दिनों के इस आयोजन सफल बनाने सभी मोर्चा व प्रकोष्ठ को अलग अलग जिम्म्मेदारी सौंपी गई है| संगठन बैठक के बाद कोर ग्रुप की बैठक शुरू हुई| बैठक में पूर्व सीएम रमन सिंह, प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय, नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply