छत्तीसगढ़ के हसदेव को बचाने आदिवासियों ने 300 किमी की यात्रा तय कर पहुंचे राजधानी, सीएम ने कहा है की बातचीत के लिए आएंगे तो हम उनसे बात करेंगे

CHHATTISGARH STATE

रायपुर। हसदेव अरण्य को बचाने मदनपुर से निकली स्थानीय आदिवासियों की पदयात्रा रायपुर पहुंच गई है। कई दिन पहले से निकली पदयात्रा में ग्रामीण 300 किलोमीटर की यात्रा कर रायपुर पहुंचे हैं। बड़ी संख्या में राजधानी पहुंचे आदिवासी दोपहर बाद 3 बजे अंबडेकर चौक पर प्रदर्शन करेंगे वाले हैं। वे हसदेव को कोल खनन से बचाने की मांग कर रहे हैं। वहीं राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आदिवासियों की इस पदयात्रा के राजधानी पहुंचने पर कहा है कि वे बातचीत के लिए आएंगे तो हम उनसे बात करेंगे। किसी से बात करने में कोई मनाही नहीं है। बातचीत के जरिये ही समस्या का निदान होता है। फिलहाल अभी तक उनकी तरफ से बातचीत का कोई ऑफर नहीं मिला है।

Leave a Reply