यूपी के लखीमपुर खीरी की घटना के मामलें में दो आरोपी हुए गिरफ्तार, कल जमा करनी होगी सुप्रीम कोर्ट में स्टेटस रिपोर्ट, मंत्री के बेटे को पकड़ने बनाई गई पुलिस टीम

CRIME NATIONAL STATE

लखनऊ| यूपी के लखीमपुर में घटी हिंसा मामलें में पुलिस ने किया 2 लोगों को गिरफ्तार| मिडिया जानकारी अनुसार, गिरफ्तार किए लोगों के नाम लवकुश राणा और आशीष पांडेय हैं। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने 7 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश सरकार से पूछा था कि जिन लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज है, उनमें से कितने लोगों की गिरफ्तारी हुई है। उत्तर प्रदेश सरकार ने कोर्ट को बताया कि इस संबंध में केस के सभी पहलुओं को देखते हुए जाँच चल रही है और बहुत जल्द गिरफ्तारी सुनिश्चित की जाएगी। 6 अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट ने मामले का स्वत: संज्ञान लिया था। सुप्रीम कोर्ट में इस मामले में यूपी सरकार को 8 अक्टूबर को स्टेटस रिपोर्ट देने को कहा है।

वहीं दूसरी ओर लखीमपुर हिंसा के बाद आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर लखनऊ रेंज की आईजी लक्ष्मी सिंह ने कहा है कि पुलिस केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा को ढूंढ रही है और उसे जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी लोगों से कहा गया है कि जिनके पास कोई सबूत है, वो पुलिस को दें। दरअसल, लखीमपुर हिंसा मामले में आशीष मिश्रा भी नामजद आरोपी हैं और उन पर किसानों को जीप से कुचलकर मारने का आरोप है।

घटना के चार दिन बाद ये पहली गिरफ्तारी है। इस बात को लेकर किसान नेता से लेकर विपक्षी पार्टियाँ सरकार पर हमलावर हैं। किसान नेता राकेश टिकैत ने चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर सरकार तय समय सीमा में एक्शन नहीं लेगी तो वे कड़े फैसले लेंगे। वहीं, भाजपा के वरिष्ठ नेता वरुण गाँधी ने भी लखीमपुर मामले को लेकर एक वीडियो साझा किया और कहा कि जनमत की आवाज यही है कि जो लोग इस कांड में दोषी हैं उनके खिलाफ बिना किसी झिझक के कार्रवाई हो।

समचार एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक, लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के मामले में पुलिस ने दो एफआईआर दर्ज की है। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी ने एजेंसी को बताया कि इस मामले में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा सहित कई अन्य अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

दरअसल, लखीमपुर खीरी से दो बार के सांसद और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा ‘टेनी’ के विरोध में कथित किसानों के विरोध के बाद हिंसा भड़क उठी थी, जिसमें आठ लोगों की मौत हो गई। किसानों का आरोप है कि केंद्रीय गृह राज्यमंत्री मिश्रा का बेटा जिस गाड़ी में सवार थे, उसी ने किसानों को कुचला, जिसमें चार किसानों की मौत हो गई। वहीं, मिश्रा ने आरोप को खारिज कर दिया।

Leave a Reply