UTTARPRADESH : पिता करता था बेटी से रेप, दुष्कर्म में सपा और बसपा नेताओं को भी करता था शामिल, 28 लोगों पर FIR

CRIME NATIONAL POLITICAL STATE

लखनऊ| उत्तर प्रदेश के ललितपुर में एक किशोरी ने अपने पिता, ताऊ और अन्य रिश्तेदारों सहित कुल 28 लोगों के खिलाफ दुष्कर्म और जिस्मफरोशी कराने का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया है। किशोरी ने सपा और बसपा के जिलाध्यक्षों को भी इस मामले में आरोपी बनाया है। किशोरी का आरोप है कि उसकी माँ को नशे में बेहोश करके पहले उसके साथ दुष्कर्म करता था, बाद उसमें कई लोगों के सामने पेश कर जिस्मफरोशी कराने लगा। किशोरी का आरोप है कि उसका पिता मुँह खोलने पर उसे और उसकी माँ को जान से मारने की धमकी देता था।

किशोरी ने इस मामले में पाँच महिला रिश्तेदारों के खिलाफ भी मामला दर्ज कराया है। वहीं, सपा के जिलाध्यक्ष तिलक यादव और बसपा जिलाध्यक्ष दीपक अहिरवार ने मामले में सफाई दी है। उनका कहना है कि उन्हें बदनाम करने की साजिश की गई है।

17 वर्षीय किशोरी मंगलवार (12 अक्टूबर) को अपनी माँ के साथ कोतवाली थाना पहुँचकर पुलिस से आपबीती बताई। किशोरी के बयान के आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया। एफआईआर में कहा गया है कि किशोरी जब 12 साल की थी और 6वीं कक्षा में पढ़ती थी, तब उसके पिता ने उसके साथ पहली बार दुष्कर्म किया। पिता ने उसकी माँ को नशा देकर उसके साथ लगातार दुष्कर्म करता रहा। इस दौरान मुँह खोलने पर उसे और उसकी माँ को जान से मारने की धमकी भी देेता था।

कुछ दिन बाद पिता उसे स्कूल से लेने आया और उधर से ही एक होटल में लेकर चला गया, जहाँ उसने एक महिला के हवाले कर दिया। महिला उसे होटल के कमरे में ले गई, जहाँ एक आदमी आया और बेहोशी की हालत में उसके साथ दुष्कर्म किया। बाद में महिला किशोरी को उसके घर छोड़कर चली गई। जब लड़की ने घटना के बारे में अपने पिता को बताया तो उसने चुप रहने को कहा और इस घटना को किसी से बताने पर जान से मारने की धमकी दी।

इसके बाद उसका पिता उसे लेकर अलग-अलग होटलों में जाने लगा, जहाँ लोग उसके साथ दुष्कर्म करते थे। दुष्कर्म करने करने वालों में सपा और बसपा का जिलाध्यक्ष भी थे। इसके अलावा, किशोरी के साथ उसके ताऊ और तीन चाचाओं और चचेरे भाईयों ने भी दुष्कर्म किया। किशोरी का कहना है कि जब वह घर पहुँचती थी तो उसकी माँ बेहोश मिलती थी।

इस मामले में ललितपुर के अपर पुलिस अधीक्षक ने कहा कि लड़की के बयान पर मामला दर्ज कर लिया गया है और लड़की की सुरक्षा की दृष्टि से उसके आवास पर पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है। एसपी निखिल पाठक के अनुसार, 25 नामजद और तीन अज्ञात समेत 28 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया है। उन्होंने कहा कि किशोरी का बयान दर्ज कराया जाएगा और मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद जाँच शुरू की जाएगी। जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

एफआईआर के अनुसार, मामले में लड़की के मंझले ताऊ, मौसी के लड़के, तीन चाचा, ताऊ के लड़के और दूसरे रिश्तेदारों के अलावा राजू यादव, महेंद्र यादव, अरविंद यादव, प्रबोध तिवारी, सोनू समैया, राजेश जैन झोझिया, महेंद्र दुबे, नीरज तिवारी, महेंद्र सिंघई, कोमलकांत सिंघई सहित कुल 28 लोगों के खिलाफ रेप और पॉक्सो के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

Leave a Reply